शहीद भगत सिंह की जयंती पर गरीब असहायों को कराया भोजन

आजादी के सच्च दीवाने थे शहीद-ए-आजम भगत सिंह: शीतल

 | 
शहीद भगत सिंह की जयंती पर गरीब असहायों को कराया भोजन

अवधनामा संवाददाता

सहारनपुर। शहीद-ए-आजम भगत सिंह का जन्मदिवस आज प्रभु जी कीरसोई में गरीबों व निसहायों को भोजन वितरित कर मनाया गया। इस अवसर पर लोककल्याण समिति के सचिव शीतल टण्डन, प्रमुख समाजसेवी पं.जयनाथ शर्मा, कर्नलसंजय मिडढा आदि ने शहीद-ए-आजम भगत सिंह के चित्र के सम्मुख पुष्प अर्पितकर उन्हें नमन किया।

गांधी पार्क स्थित प्रभु जी की रसोई में आयोजित कार्यक्रम में शीतल टण्डन ने कहा कि देश को आजाद कराने के लिए जिसप्रकार शहीद-ए-आजम भगत सिंह, राजगुरू, सुखदेव सहित अनेकों वीरक्रांतिकारियों ने अपने प्राणांे की बलि चढ़ा दी, ताकि आने वाली पीढ़ियों कोआजादी मिल सकें। उन्होंने कहा कि ऐसे वीर सपूतों का कभी भी देश भुला नहींपायेगा। श्री टण्डन ने कहा कि सच्चे मायने में भगत सिंह देश की आजादी केदीवाने थे। जिन्होंने हंसते-हंसते फांसी का फंदे को चूम लिया।पं.जयनाथ शर्मा ने कहा कि शहीद-ए-आजम भगत सिंह स्वतत्रंता की बेड़ियों सेजकड़कर जीना नहीं चाहते थे। इसलिए उन्होंने छोटी सी ही उम्र में स्वतंत्रताआंदोलन मेें भाग लेकर देश को आजाद कराने का बीड़ा उठाया और आखिरकारशहीदांे की कुर्बानियों की बदौलत ही सन् 1947 में देश आजाद हुआ। उन्होेंनेकहा कि प्रत्येक व्यक्ति के अंदर देशप्रेम की भावना की अलख हमेशा रहनीचाहिए।इससे पूर्व घंटाघर स्थित शहीद-ए-आजम की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया गया। इस अवसर पर गरीब, असहाय व जरूरतमंदों को भोजन भीवितरित किया गया।इस अवसर पर सतीश ठकराल, सुरेन्द्र सचदेवा, कोमल सचदेवा, राजीव कालिया,प्रदीप सचदेवा, शोभा कश्यप, शारदा कश्यप, गौरव सचदेवा आदि मौजूद रहे।