कृषि सखी एवं पशु सखी हेतु चारा तकनीकि प्रशिक्षण सम्पन्न

 | 
कृषि सखी एवं पशु सखी हेतु चारा तकनीकि प्रशिक्षण सम्पन्न

अवधनामा संवाददाता

झाँसी (Jhansi)। भारतीय चरागाह एवं चारा अनुसंधान संस्थान झांसी में उत्तर प्रदेश राज्य आजीविका मिशन के तहत महोबा जिले से 50 पशु सखी एवं कृषि सखी का प्रशिक्षण  7 सितंबर 2021 में संपन्न हुआ जिसमे महिला प्रशिक्षुओ को चारा उत्पादन ,संरक्षण एवं उपयोग की विभिन्न तकनीकियों की जानकारी दी गई एवं तकनीक प्रक्षेत्र भ्रमण के पश्चात उन्नत चारा फसलों का बीज एवं घास की जड़े वितरित की गई । प्रशिक्षण का उद्घाटन संस्थान के निदेशक डॉ अमरेश चंद्र एवं डॉ पुरुषोत्तम शर्मा इंचार्ज कृषि तकनीकि सूचना केंद्र ने किया एवं संचालन वैज्ञानिक डॉ गौरेंद्र गुप्ता रिसर्च फेलो सचेंद्र त्रिपाठी एवं प्रतीक श्रीवास्तव ने किया । निदेशक महोदय ने अपने वक्तव्य में प्रशिक्षुओ को उन्नत चारा उत्पादन तकनीकियों से अधिक चारा उत्पादन,चारा फसल किस्मों ,पशुपालन प्रबंधन ,गैरपरंपरागत  फसलों से चारा उत्पादन इत्यादि की जानकारी के अलावा चारा तकनीकि के प्रचार प्रसार हेतु आवाहन किया। डॉक्टर पुरुषोत्तम शर्मा इंचार्ज कृषि तकनीकी सूचना केंद्र ने अपने संबोधन में कहा कि में कहा कि ग्रामीण महिलाओं को पशु सखी एवं कृषि सखी के रूप में प्रशिक्षित किए जाने का उद्देश्य यही है कि महिलाएं अपने घर में गांव में स्वरोजगार के माध्यम से अपनी अजीब का विकसित कर सकें। इसके लिए विभिन्न तरह के चारे के उत्पादन उसके संरक्षण एवं विभिन्न तकनीकों की जानकारी देने के लिए चारागाह अनुसंधान केंद्र प्रमुख रूप से सदैव तैयार है। उन्होंने कहा भारतीय चरागाह अनुसंधान केंद्र झांसी में उन्नत चारे की फसल के बीच घास की जड़ें हर समय उपलब्ध है जो भी ग्रामीण परिवार अपने खेत में चारा उत्पादन करना चाहे उसको तकनीकी के साथ-साथ घास की जड़ एवं उन्नत किस्म का बीज हम अपने संस्थान के माध्यम से उपलब्ध करा सकते हैं।