किसानों ने रोका रेलवे के फ्रेट कारीडोर का निर्माण कार्य

 | 
किसानों ने रोका रेलवे के फ्रेट कारीडोर का निर्माण कार्य

फ़िरोज़ ख़ान : देवबंद कोतवाली क्षेत्र के गांव लाखनौर में किसानों ने भारतीय किसान यूनियन (टिकैत ) के कार्यकर्ताओं के नेतृत्व में डीएफसीसी द्वारा चलाये जा रहे रेलवे के निर्माण कार्य को रुकवा दिया। किसानों का कहना है कि पहले उनकी मांगों को पूरा किया जाये बाद में निर्माण कार्य किया जाए। सुबह करीब 10 बजे क्षेत्र के लाखनौरसुभरीबेलडा आदि गांव के किसान गांव लाखनौर में इकट्ठा हुये एवं रेल कॉरिडोर के निर्माण कार्य को रुकवा दिया। किसानों का नेतृत्व कर रहे भाकियू नेता अमित मुखिया ने कहा कि जमीन अधिग्रहण के बाद से ही किसानों की मांग चल रही थी कि किसानों को एक समान मुआवजा दिया जाये एवं अधिग्रहित की गई चकरोड के बदले खेतों पर आने जाने के लिए रास्ता दिया जायेजिसके चलते किसान जमीन को कब्जा मुक्त नहीं कर रहे थे लेकिन डीएफसीसी ने भारी पुलिस बल प्रशासनिक अधिकारियों के साथ सितंबर 2020 में कब्जा लेना चाहा ओर पुलिस फोर्स ने जेसीबी लगाकर कुछ किसानों की फसलें भी रौंद डाली थी ।उस समय भाकियू प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी विनय कुमार के नेतृत्व में किसान और प्रशासन की टकराव की स्थिति बन गई थी तब प्रशासनिक अधिकारीगण ने वायदा किया था कि जल्दी उन्हें समान मुआवजा दिया जायेगा एवं जल्द ही खेतों पर आने जाने के लिए रास्ता देते हुए उनकी नष्ट फसल का भी मुआवजा दिया जाएगालेकिन अभी तक कोई भी वायदा पूरा नहीं हुआ हैइसलिए जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होती तब तक कार्य नहीं होने देंगे। इस अवसर पर भोपाल नंबरदारविनेश कुमाररजनीशअजय कुमारजोगेंद्रसोमपालनवनीतयोगेशअल्लादीननसीमवसीम ,अक्षयबृजेश शर्माअतुलजितेंद्रसतीशसतपालसत्तो देवीधीर सिंहसोनी प्रधान ,जगपालसचिन आदि मौजूद रहे।