सात सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत संविदा कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

मस्टरोल व्यवस्था के तहत समायोजित कर समान कार्य का समान वेतन दिया जाए का किया मांग

 | 
सात सूत्रीय मांगों को लेकर विद्युत संविदा कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। उतर प्रदेश निविदा संविदा कर्मचारी संघ ने केंद्र नेतृत्व के आह्वान पर गुरुवार को कुशीनगर जिला कार्यकारिणी द्वारा सात सुत्रीय मांग व समर्थन को लेकर अधीक्षण अभियंता कसया कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया‌। निविदा संविदा कर्मचारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आउटसोर्सिंग के माध्यम से कर्मचारियों का न्यूनतम मजदूरी 18 हजार निर्धारित कर समयानुसार दिया जाय, आउटसोर्स कर्मचारियों को  विभाग के नीतियों के अनुरूप मस्टरोल व्यवस्था के तहत समायोजित कर समान कार्य का समान वेतन दिया जाए। आउटसोर्स कर्मचारियों के ई0पी0एफ0 एवं ई0एस0आई0 में हुये घोटाले की जांच कराई जाए। आउटसोर्स कर्मचारियों की हो रही दुर्घटनाओ पर अंकुश लगाते हुए कार्य के दौरान घायल हुए कर्मचारियों का पुर्ण रुप से इलाज कराया जाए तथा परिवार के भरण-पोषण हेतु उपचार अवधि का वेतन दिया जाए। आउटसोर्स कर्मचारियों के परिजनों को दुर्घटना हित लाभ के रूप में एक लाख का धनराशि दिया जाए तथा परिवार के एक सदस्य को विभाग की सेवा में लिया जाए। आउटसोर्स कर्मचारियों को पेट्रोल एवं मोबाइल की भत्ता दिया जाए‌। आउटसोर्स कर्मचारियों के कार्य से हटाने तथा स्थानांतरण के नाम पर की जा रही धन उगाही की जांच कराई जाए इन सभी बिन्दुओं को लेकर निविदा कर्मचारियों का धरना जारी रहा।इस दौरान अर्जून रामकृपाल मन्नू चौहान मिन्टू सत्यनारायण चौरसिया सदानंद यादव संजीव त्रिपाठी अमेरिका बालगोविंद यादव विनय गुप्ता सहित सैकड़ों कर्मचारी मौजूद रहे।