ठंड से ठिठुरते जरूरतमंद बच्चों के बीच नि:शुल्क स्वेटर का वितरण करेगा प्रयास

 | 
ठंड से ठिठुरते जरूरतमंद बच्चों के बीच नि:शुल्क स्वेटर का वितरण करेगा प्रयास 

अवधनामा संवाददाता

सोनभद्र /चोपन "निर्धन जन की सेवा में जो जन हाथ बटाते हैं, नारायण की सेवा का वही पुण्य कमाते हैं"की भावना से सामाजिक संस्था प्रयास सामाजिक सेवा समिति गत वर्षों की भांति इस वर्ष भी चोपन नगर क्षेत्र के चार प्राइमरी स्कूलों, सरस्वती शिशु मंदिर प्रीत नगर, आर्य शिशु मंदिर, गुरुद्वारा बाल विद्यालय एवं सोनबाल विद्यालय में ठंड से ठिठुरते जरूरतमंद स्कूली बच्चों के बीच शीघ्र ही स्कूल ड्रेस के स्वेटर का निःशुल्क वितरण करेगी। जरूरतमंद पात्र बच्चों का चयन संबंधित स्कूलों के प्रधानाचार्य करेंगे। सेवा के क्रम में आने वाली कड़ाके की ठंड के दौरान बिना तिथि बिना अतिथि कार्यक्रम के तहत रात्रिकालीन आकस्मिक भ्रमण कर जरूरतमंद लोगों के बीच समय-समय पर कंबल का वितरण भी किया जाएगा। वहीं कार्यक्रम संयोजक प्रयास के साथी प्रदीप अग्रवाल को बनाया गया है।

इस आशय का निर्णय रविवार की देर शाम प्रयास के अध्यक्ष अजय भाटिया की अध्यक्षता में महामंत्री संजय जैन के आवास पर हुई प्रयास सामाजिक सेवा समिति की बैठक में लिया गया। खेल के क्षेत्र में प्रयास बाल प्रतिभा खोज कार्यक्रम के तहत आगामी जनवरी माह में फुटबॉल टूर्नामेंट के आयोजन का निर्णय लिया गया जिसका कार्यक्रम संयोजक खेल शिक्षक  संतोष तिवारी को बनाया गया है जो शीघ्र ही इसकी रूपरेखा बनाकर कार्यक्रम को अंतिम रूप देंगे।

बैठक में मुख्य अतिथि प्रयास के आजीवन सदस्य डॉ. एस एन तिवारी एवं अच्युत कुमार जायसवाल ने समाज में प्रयास के सेवा कार्यों को सराहनीय बताते हुए इसकी निरंतरता बनाए रखने पर बल दिया। बैठक का संचालन करते हुए महामंत्री संजय जैन ने कहा कि प्रयास के सभी सेवा कार्यक्रम "समाज के सहयोग से समाज के लिए" की अवधारणा से संचालित किए जाते हैं। अमर शर्मा एवं पन्ना लाल अग्रहरि ने संगठन विस्तार की कड़ी में समाज के संवेदनशील प्रबुद्ध जनों को प्रयास से जोड़ने का आह्वान किया।

उल्लेखनीय है कि प्रयास सामाजिक सेवा समिति अपने स्थापना काल वर्ष 2011 से ही निरंतर क्षेत्र में सामाजिक गतिविधियों को संचालित करने में अग्रणी भूमिका निभाती रही है।

बैठक के अंत में प्रयास के पूर्व महामंत्री शंभू प्रसाद के असामयिक निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई।