कार्यदाई संस्था के अभियंता से डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण

 गुणवत्ता के साथ समय से कार्य पूरा करने के निर्देश 
 
 | 
कार्यदाई संस्था के अभियंता से डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण 

अवधनामा संवाददाता 

बांदा। जिलाधिकारी अनुराग पटेल ने जनपद में 50 लाख से अधिक लागत की निर्माणाधीन परियोजनाओं का गुरुवार को निरीक्षण किया। डीएम ने पहले मंडी समिति में पांच हजार मीट्रिक टन क्षमता गोदाम का निरीक्षण किया। गोदाम के चारो ओर बने प्लेटफार्म पर दरारें है, जिसको तोड़वाकर दोबारा मानक के अनुरूप बनाए जाने के लिए निर्देशित किया। साथ ही नवीन मानसिक मंदित आश्रय गृह सह प्रशिक्षण कंेद्र के निर्माणाधीन भवन का भी जायजा लिया। जहां पाया गया कि सीसी रोड में कई स्थानों पर दरारें है तथा चाहरदीवारी भी चटकी हुई थी। कार्यदायी संस्था यूपी सिडको के अभियंता के कार्यों पर असंतोष व्यक्त करते हुए स्पष्टीकरण मांगा गया एवं तत्काल कमियों को दुरुस्त कराए जाने के निर्देश दिए गए। तत्पश्चात डीएम ने राजकीय मानसिक मंदित विद्यालय की गुणवत्ता देखी। जिसमे पाया गया कि बीम व कॉलम में हनी कॉम्बिंग है जिसे तुड़वाकर पुनः मानक के अनुरुप निर्माण कराए जाने के निर्देश दिए गए। उन्होंने ड्राइविंग ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट के निर्माण का भी निरीक्षण किया। वहां अनेकों कमियां पाई गई। जिसे अधिशाषी अभियंता आवास विकास परिषद को सप्ताह भर के अंदर कमियों को दुरुस्त कराकर अवगत कराए जाने के निर्देश दिए गए। डीएम अनुराग पटेल ने सभी कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देश दिए कि कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता के साथ समयबद्ध ढंग से पूरा कराएं तथा अधिशाषी अभियंता स्वयं मौके पर मौजूद रहकर निर्माण कार्य संपादित कराएं। उन्होंने कहा कि भविष्य में निर्माण कार्यों में लापरवाही पाए जाने पर कठोर कार्यवाही की जाएगी।