मण्डलायुक्त ने निरीक्षण परखी विकास कार्यों की नब्ज

पाइप पेयजल योजना व छात्रावास निर्माण देखा

 | 
मण्डलायुक्त ने निरीक्षण परखी विकास कार्यों की नब्ज

अवधनामा संवाददाता

ललितपुर। मण्डलायुक्त झांसी मण्डल डा.अजय शंकर पाण्डेय ने जनपद ललितपुर का दौरा किया। अपने दौरे के दौरान मण्डलायुक्त सर्वप्रथम 50 लाख से अधिक की दो परियोजनाओं 1- तालबेहट स्थित नवनिर्मित राजकीय पॉलीटेक्निक पुरुष छात्रावास भवन तथा 2- पवा ग्राम समूह पेयजल योजना का निरीक्षण किया। राजकीय पॉलीटेक्निक पुरुष छात्रावास भवन के निरीक्षण के दौरान कार्यदायी संस्था के अभियंता एस0के0 अग्निहोत्री द्वारा बताया गया कि यह 60 सीटेड पुरुष छात्रावास हैजिसका निर्माण तय समयसीमा 31.12.2021 को पूर्ण कर लिया गया है। इसकी निर्माण लागत लगभग 02 करोड़ 82 लाख हैजिसकी प्रथम किश्त जून 2020 तथा द्वितीय किश्त मार्च 2021 में प्राप्त हुई थी। इस भवन का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है तथा अन्य स्थलों पर निर्माण कार्य चल रहे हैं। यह भवन दो तलों में निर्मित हैंप्रत्येक तल पर 20-20 कमरे बने हुये हैंजिनमें 60 छात्रों के रहने का प्रबंध है। निरीक्षण में छात्रावास के लकड़ी के फर्नीचर की गुणवत्ता संतोषजन नहीं पायी गईगुणवत्ता मानक के अनुरुप कमजोर थीइस पर मण्डलायुक्त द्वारा निर्देश दिये गए कि फर्नीचर की गुणवत्ता व पी0ए0सी0 की जांच करायी जाये। इसके उपरान्त मण्डलायुक्त ने खिड़कियोंचौखटोंदिव्यांग शौचायलपेयजल व्यवस्था सहित विभिन्न व्यवस्थाओं का जायजा लियाजिसमें पाया गया कि लोहे की खिड़कियों के पल्लेचौखटें कमजोर हैं। पानी की उपलब्धता के लिए बोरिंग करायी गई हैसाथ ही पानी की टंकी से भी सप्लाई सुचारु रहेगी। निरीक्षण के दौरान मैस 60 छात्रों के सापेक्ष छोटी पायी गईजिस पर मण्डलायुक्त ने मैस के मानक में परिवर्तन करने तथा भवन के पास स्थित कच्चे रास्ते की मरम्मत के निर्देश दिये। इसके उपरान्त पवा ग्राम समूह पेयजल योजना का निरीक्षण किया गयायहां पर परियोजना प्रबंधक द्वारा बताया गया कि यह पयेजल परियोजना परियोजना प्रबंधक निर्माण इकाईउ0प्र0 जल निगम द्वारा पूर्ण करायी जा रही हैजिस पर अब तक लगभग 7.34 करोड़ व्यय किया जा चुका है। परियोजना के तहत आसपास के घरों में पाइपलाइन डाली जा चुकी हैंकनेक्शन देना शेष है। इस परियोजना में बेतवा रिवर से पानी की आपूर्ति की जायेगी। वर्तमान में पेंटिंग का शेष है। इस पर मण्डलायुक्त ने निर्देश दिये कि परियोजना के निर्माण में विलम्ब तथा गुणवत्ता की जांच करायी जाये। साथ ही टंकी से गांव की कितनी आबादी को जलापूर्ति की गई हैइसकी रिपोर्ट प्रेेषित करें। निरीक्षण के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पाण्डेयअधि.अभि.उ.प्र. राजकीय निर्माण निगम एस.के.अग्निहोत्रीपरियोजना प्रबंधक निर्माण इकाईजल निगम दिनेश कुमारजिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारीजिला सूचना अधिकारी सुरजीत सिंह सहित अन्य सम्बंधित अधिकारी उपस्थित रहे।