45 मिनट में निपटी जिला योजना की बैठक, भारी शोर शराबा व अव्यवस्था रही हावी

 | 
45 मिनट में निपटी जिला योजना की बैठक, भारी शोर शराबा व अव्यवस्था रही हावी
अवधनामा संवाददाता 

बाराबंकी। जिले के विकास का खाका खींचने की दृष्टि से महत्वपूर्ण जिला योजना एवं अनुश्रवण समिति की बैठक सम्भवतः पहली बार अव्यवस्था और हंगामे का शिकार हो 45 मिनट में ही समाप्त हो गई। औपचारिकता के साथ निपटी बैठक में करीब 442 करोड़ के विकास कार्यों पर मुहर लगी मान ली गई। 

जिले के प्रभारी मंत्री दारा सिंह चौहान की अध्यक्षता में आज डीआरडीए सभागार में जिला योजना की बैठक हुई। सांसद बाराबंकी उपेन्द्र रावत, अयोध्या सांसद प्रतिनिधि, विधायक बैजनाथ रावत, शरद अवस्थी, साकेन्द्र वर्मा, सुरेश यादव, एमएलसी राजेश यादव आदि की उपस्थिति में बैठक की शुरूआत ठीक रही। हालांकि जिला पंचायत सदस्यों की ओर से विरोध शुरू कर दिया गया। चर्चा के दौरान ही धान खरीद व खाद के मुद्दे को लेकर जोरदार हंगामा हुआ। सांसद उपेन्द्र ने शांत करने की कोशिश की पर बात नही बनी। इसी बीच अयोध्या सांसद के प्रतिनिधि परमेन्द्र विक्रम ने आपत्ति की, कि उनके प्रस्ताव ही बैठक में शामिल नही फिर बैठक किस बात की, तब डीएम ने उन्हें प्रस्ताव शामिल होने की जानकारी दी। विधायक साकेन्द्र वर्मा ने भी सभी से शांति की अपील की पर हंगामा होता ही रहा। आपत्ति यह भी हुई कि बैठक को राजनीतिक रंग न दिया जाए। स्थितियां कुछ ऐसी बनी कि बैठक ज्यादा देर तक चलाना असंभव लगने लगा। भारी शोर शराबे व अव्यवस्था के बीच 46वें मिनट पर बैठक को पूर्ण मानने के साथ ही करीब 442 करोड़ के प्रस्ताव स्वीकृत मान लिए गए। इस तरह यह बैठक महज 46 मिनट में निपट गई, न स्वस्थ बहस हुई और न ही विकास कार्यों का विवरण ही सदन में रखा जा सका। 

जिला पंचायत त्रिवेदीगंज तृतीय नेहा सिंह आनन्द ने सख्त तेवर दिखाए, नेहा सिंह ने क्षेत्र की समस्याओं के बारे में विस्तार से अवगत करवाया एवं आगे उन्होंने कहा कि इससे पहले भी हम कई समस्याओं के बारे में अवगत करा चुके है लेकिन अभी तक किसी भी प्रकार का समाधान नही हुआ है, खाद की किल्लत से जूझ रहे किसानों की आवाज को नेहा सिंह ने सदन में गंभीरता से उठाया।