प्रजापति समाज को अनुसूचित जाति में शामिल किये जाने की मांग

 | 
प्रजापति समाज को अनुसूचित जाति में शामिल किये जाने की मांग

अवधनामा संवाददाता 

ललितपुर (Lalitpur)। प्रजापति समाज को अनुसूचित जाति में शामिल किये जाने की मांग को लेकर समाज के लोगों ने लामबंद होकर जिलाध्यक्ष बालकिशन प्रजापति के नेतृत्व में मुख्यमंत्री को संबोधित एक ज्ञापन प्रशासन को सौंपा। ज्ञापन में बताया कि जितनी भी सरकार बनी उसमें प्रजापति समाज को उपेक्षित रखा है। प्रजापति समाज सामाजिक आर्थिक एवं राजनैतिक रूप से पिछड़ेपन को देखते हुये कुम्हार समाज अनुसूचित जाति में शामिल किया जाना चाहिये। उन्होंने कहा कि प्रजापति कुम्हार की शिल्पकार कहा जाता है जो शिल्पकार के नाम से सरकार को अनुसूचित जाति की सूची में 65 वे नम्बर पर अंकित है और कुम्हारों को बर्तन बेचने के लिये महानगरों नगर पालिका एवं नगर पंचायत में मण्डी की स्थापना तो प्रजापति समाज को अनुसूचित जाति में कर देते है तो उनके बच्चों के भरण-पोषण होने लगेगा और राजनीति में भागेदारी मिलने लगेगी तो उनका शोषण रूक जायेगा। उन्होंने प्रजापति समाज के शोषण को रोके जाने के लिए इस जाति को अनुसूचित जाति में शामिल किये जाने की मांग उठायी। ज्ञापन देते समय जिलाध्यक्ष बालकिशन प्रजापतिकमलेश प्रजापतिकाशीरामजितेन्द्र प्रतापतिरघुवीरभगवानदास प्रजापतिराजपाल सिंहप्रभाशंकरबाबूलालनाथूपालगुलाबमोहनपरशुरामदास प्रजापतिजगभान सिंहनंदलाल प्रजापतिरिपूसूदनइमरतबाबूलालहरदयालपरशु प्रजापतिभरतदीपक प्रजापति के अलावा अनेकों सजातीय बंधु मौजूद रहे।