किसान दिवस में सूखे फसलों की मुआवजा व धान क्रय केंद्र खोलने की मांग

 | 
किसान दिवस में सूखे फसलों की मुआवजा व धान क्रय केंद्र खोलने की मांग

अवधनामा संवाददाता

कुशीनगर। अपर जिलाधिकारी देवीदयाल वर्मा की अध्यक्षता में जनपद स्तरीय किसान दिवस का आयोजन कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुआ बुधवार को किसान दिवस में सर्व प्रथम विगत बैठक में आये 19 प्रकरणों की समीक्षा की गई जिसमें 18 प्रकरण निस्तारित पाए गए। कृषक महेंद्र मणि त्रिपाठी ने गन्ना एवं केले की फसल सुखने के कारण हुए क्षति पूर्ति की मांग की गई, उक्त के क्रम में अपर जिलाधिकारी ने बताया कि तमकुही व खडडा तहसील क्षेत्र के सर्वे कराकर रिपोर्ट के आधार पर भुगतान कर दिया गया है। शेष तहसीलों का रिपोर्ट अभी तक प्राप्त न होने पर उप निदेशक कृषि को निर्देशित किया गया कि अन्य तहसीलों के सर्वे हेतु पत्र प्रेषित कर प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें। कृषक चन्द्र शेखर पाण्डेय द्वारा  नैका छपरा (चिरगोडा न्याय पंचायत) में धान क्रय केंद्र खोलने की मांग की गई। अन्य कृषक द्वारा ताल के पानी निकासी/ ड्रेन  का अतिक्रमण होने के कारण जल जमाव से फसलों का नुकसान होने की शिकायत की गई, तथा इसी क्रम में चेचक के प्रकोप की भी जानकारी दी गई, जिसे अपर जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को जांच कराकर टीकाकरण कराने का निर्देश दिए। जगदीश नारायण मिश्र द्बारा धान क्रय केंद्रों पर सत्यापन का माप दण्ड क्या है की जानकारी चाही जिसे अपर जिलाधिकारी ने बताया कि मिसमैच प्रमुख्य मापदंड है। जिसे सत्यापन हेतु उप जिलाधिकारी  नामित हैं। अभय सिंह कृषक द्बारा काला नमक धान के बारे में विधिवत जानकारी दी गई। अपर जिलाधिकारी श्री वर्मा ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कृषक गणों द्वारा प्राप्त आवेदन /शिकायत पत्रों को अधिकारी गण संज्ञान में लेकर तत्काल प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करें।किसान दिवस के अवसर पर उप निदेशक कृषि बाबूराम मौर्य , परियोजना अधिकारी, जिला ग्राम्य विकास अधिकारी, उपायुक्त श्रम एवं रोजगार, सहायक निदेशक रेशम, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, सहित अन्य अधिकारी गण व कृषक गण उपस्थित रहे।