उर्वरक बिक्री की सरकारी, थोक, निजी व फूटकर दुकानों का किया जाय संघन निरीक्षण-जिलाधिकारी

जिलाधिकारी  टी0के0 शिबु ने आये हुये शिकायतकर्ताओं की शिकायतों को सुना, निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को किया निर्देशित

 | 
जिलाधिकारी  टी0के0 शिबु ने आये हुये शिकायतकर्ताओं की शिकायतों को सुना, निस्तारण  हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को किया निर्देशित

अवधनामा संवाददाता 

सोनभद्र नवागत जिलाधिकारी  टी0के0 शिबु ने बुधवार को जन सुनवाई कक्ष में आये हुए शिकायतकर्ताओं की शिकायतों को सुना और गुणवत्तापूर्ण व समयबद्धता के साथ निस्तारण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया कि जिन भी शिकायतों का निस्तारण किया जाय, उसके सम्बन्ध में रेण्डम आधार पर व्यक्ति के शिकायत निस्तारण के सम्बन्ध में जानकारी भी प्राप्त की जाय। इस दौरान उन्होंने उप निदेशक कृषि व जिला कृषि अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि ई-पास मशीन के माध्यम से ही किसान बन्धुओं को उर्वरक बिक्री सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने यह भी कहा कि जनपद की सीमा से लगे प्रदेश में उर्वरक की काला बाजारी कदापि ही न होने पायें। निजी और सहकारी बिक्रेता निर्धारित दर से अधिक मूल्य पर उर्वरक की बिक्री न करने पायें। उन्होंने यह भी कहा कि किसान बन्धुओं के पास कृषि योग्य जो भी भूमि हो, उसके खतौनी के अनुसार ही उर्वरक उपलब्ध कराया जाये और यह भी सुनिश्चित किया जाय कि जनपद में कोई भी बिक्रेता सरकारी,थोक, निजी व फूटकर उर्वरक के बिक्रेता अनावश्यक रूप से उर्वरक का भण्डारण न करें। इसके लिए जनपद में टीम बनाकर दुकानों का संघन निरीक्षण किया जाय, जो भी उर्वरक बिके्रेता काला बाजारी में सम्मिलित पाये जाते हैं, उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाये। जिससे किसान बन्धुओं को उर्वरक से सम्बन्धी किसी भी प्रकार की समस्याओं का सामना न करना पड़ें।