सीएम बोले-बिना रुके, बिना झूके, बिना टूटे जनता-जनार्दन और देश की सेवा की

सूबे के मुखिया ने जनपद को दिया 400 करोड की सौगात

 | 
सीएम बोले-बिना रुके, बिना झूके, बिना टूटे जनता-जनार्दन और देश की सेवा की

कप्तानगंज में 19 और तमकुहीराज में 21 परियोजनाओं है शामिल की  

 शकील अहमद 
 
 कुशीनगर(Kushinagar) ।
सूबे के वजीरे आला योगी आदित्यनाथ ने भारत माता और जय श्रीराम के उदघोष के साथ कहा कि उन्होंने कभी अपना पराया नही देखा, जो प्रदेश का है वह अपना है। किसी के साथ भेदभाव नही किया गया। उन्होंने कहा कि देश के लिए, गांव के लिए, गरीब के लिए किसान के लिए समाज के सभी तबके के लिए कार्य कर रहे मोदीजी के प्रेरणा से उनके मार्गदर्शन से पिछले साढे चार वर्षों मे हम लोगो ने बिना रुके, बिना झूके, बिना टूटे जनता-जनार्दन और देश की सेवा की है। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को कुशीनगर जनपद मे थे। वह रामकोला विधानसभा के कप्तानगंज व तमकुहीराज विधानसभा मे आयोजित जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। योगी ने सामने खडी भीड से सवालियां अंदाज पूछा तो क्या आप भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रवादी विचारधारा को अपना समर्थन देगे। उन्होने कहा कि अगर आपको लगता है कि मोदीजी और योगी जी ने अच्छा काम किया है तो सभी विपक्षियों की जमानत जब्त होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारें विकास को लेकर कभी गंभीर नहीं रहीं। भाई भतीजावाद, जाति- पाति और दबंगई चरम पर थी, लेकिन जब से यूपी में भाजपा की सरकार बनी तब से विकास की गति तेज हुई है। उन्होंने कहा कि सूबे के सभी जिलों में मेडिकल कॉलेज की स्थापना होगी। उन्होंने कहा कि भगवान बुद्ध के महापरिनिर्वाण स्थल कुशीनगर की धरती अपने परिश्रम, पुरुषार्थ और धर्म के प्रति अपनी श्रद्धा भावना से जाना जाता था। हाल ही में भीषण बाढ़ की त्रासदी को आपने झेला है, इससे पहले आपने कोरोना की लड़ाई लड़ी थी। भीषण गर्मी में  भीड को देख गदगद  हुए  और लोगो  का स्वागत और अभिनंदन करते हुए कहा कि कुशीनगर हम लोगों का प्यारा जनपद रहा है। कई आंदोलनों में यहां भाग लेने का मौका मिला है। मुसहर जाति के  आंदोलन का भी जिक्र उन्होंने किया। उन्होंने कहा  कई कार्यकर्ताओं के साथ यहां के गलियों, सड़कों, जिला मुख्यालय, तहसील मुख्यालय में आंदोलन करने की एक लंबी श्रृंखला रही। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि दो विधानसभा क्षेत्र में आने का अवसर हुआ। 


 400 करोड रुपये की परियोजनाओ का किया लोकार्पण व शिलान्यास

दोनो विधानसभा क्षेत्रो मे अलग-अलग हुए कार्यक्रम मे सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने लगभग 400 करोड़ से ज्यादा की परियोजनाओं का शिलान्यास एवं लोकार्पण करते हुए उन्होंने कहा कि यह तो सिर्फ कुशीनगर के लिए एक टेलर है और कार्य किया जाना है। उन्होंने आगे कहा कि कुशीनगर का अपना मेडिकल कॉलेज होगा और अब हम बहुत शीघ्र ही आने वाले हैं। उन्होंने कहा कि अब तो हवाई जहाज भी कुशीनगर से उड़ेगी। यहां की पहली फ्लाइट इंटरनेशनल फ्लाइट होगी क्योंकि भगवान बुद्ध  13 बड़े शक्तिशाली देशों में भारत की शिक्षा और संस्कृति लेकर पहुंचे थे। आगामी एयरपोर्ट के भव्य उद्घाटन की भी चर्चा उन्होनें की। 


इंसेफलाइटिस से हुई मौतो पर की चर्चा

मुख्यमंत्री योगी ने वर्ष 1977 से 2017 तक सितंबर महीने में कुशीनगर के पांच सौ, सात सौ और एक हजार बच्चो  के इंसेफलाइटिस से असमय मरने की चर्चा की व इस बात के लिए  प्रधानमंत्री श्री मोदी का आभार व्यक्त किया कि उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन, घर-घर शुद्ध पेयजल, स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जिससे दिमागी बुखार पूरी तरीके से समाप्त हो गया। उन्होंने कहा कि यहां का मासूम बच्चा एवं किसी मां को इस बात के लिए रोना नहीं पड़ेगा।  यशस्वी नेतृत्व वाले प्रधानमंत्री मोदी जी की प्रशंसा करते उन्होंने कहा देश की राजनीति पहले जाति , मजहब वेश, भाषा तक सीमित थी लेकिन मोदी जी ने बिना किसी भेदभाव के हर तबके के लोगो तक  विकास पहुंचाया, लेकिन तुष्टीकरण किसी की नहीं की। उन्होंने कहा कि तुष्टीकरण की राजनीति जब तक देश में थी तब तक देश में आतंकवाद भ्रष्टाचार एवं अन्याय था।


सबका साथ सबका विकास, सबका विश्वास

योगी ने  कहा कि हर गरीब को शौचालय मिला, निशुल्क राशन मिला।  उन्होंने यह भी कहा कि 2017 के पहले तो राशन अब्बा जान  हजम कर जाते थे। तब यहां का राशन नेपाल और बांग्लादेश जाता था। आज कोई राशन निगलेगा तो जेल जरूर पहुंच जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि पहले गरीबों की नौकरी  अब्बा जान के कहने पर मिलती थी। एक गैंग  झोला लेकर वसूली पर निकलता था । किसी भी योग्य व्यक्ति का चयन नहीं होता था, अध्यापक पुलिस की भर्ती में  पैसा भी लग जाता था और नौकरी भी नहीं मिलती थी। सरकार के सारे 4 वर्ष का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार ने 4.30 लाख नौजवानों को नौकरी दी। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े 4 वर्षों में भूख से एक भी मौत नहीं हुई।