अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों को किसी प्रकार की समस्या न हो: जिलाधिकारी

 | 
अपने माता-पिता को खो चुके बच्चों को किसी प्रकार की समस्या न हो: जिलाधिकारी

अवधनामा संवादाता

सहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने 01 मार्च, 2020 के उपरान्त कोविड-19 के प्रभाव से अथवा किसी अन्य कारण से अपने माता-पिता को खो चुके 22 बच्चों से कलेक्ट्रेट सभागार में सीधा साक्षात्कार करते हुए उनकी समस्याओं को सुना तथा उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होने प्रत्येक बच्चे से वार्ता करते हुए उन्हें राशन उपलब्ध कराया जा रहा है अथवा नहीं, के विषय में पूछा तथा तत्काल सभी बच्चों के राशन कार्ड बनवाते हुए उन्हें राशन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश जिला पूर्ति अधिकारी को दिये।
अखिलेश सिंह आज कोरोना महामारी में माता-पिता को खो चुके बच्चों से वार्ता कर रहे थे। उन्होने स्कूल की फीस, यूनिफार्म व उनके खेल-कूद के विषय में जानकारी करते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक व जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए कि सभी बच्चों के विद्यालय प्रबन्धकों से वार्ता करते हुए सभी बच्चों की फीस माफ करने तथा यथासंभव उनकी हॉबी को पूरा करने के लिए यथोचित कार्यवाही किया जाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होने सभी बच्चों की पारिवारिक समस्याओं के विषय में जानकारी करते हुए उनकी पैतृक सम्पत्ति, जमीन व जायदाद के मामलों के निस्तारण व निगरानी के लिए सभी उपजिलाधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होने सभी बच्चों के आवास की स्थिति की जानकारी ली तथा सर्वे कर पात्रता की स्थिति में प्राथमिकता के आधार पर उनके आवास बनवाने की कार्यवाही के लिए ग्रामीण क्षेत्र में परियोजना निदेशक, जिला ग्राम्य विकास अभिकरण तथा शहरी क्षेत्र में परियोजना अधिकारी, जिला नगरीय विकास अभिकरण, को निर्देश दिये। बच्चों से वार्ता करते हुए उनके स्वास्थ्य के दृष्टिगत उनके आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए मुख्य चिकित्साधिकारी तथा ख्याति प्राप्त निजी बाल रोग चिकित्सकों से सम्पर्क कर बच्चों की बीमारी की स्थिति में उनके समुचित इलाज हेतु निर्देशित किया ।
जिलाधिकारी ने सभी बच्चों से वार्ता करते हुए उन्हें किसी भी समय तथा किसी भी प्रकार की परेशानी होने या सुरक्षा की आवश्यकता होने पर पुलिस सहायता, 181 महिला हेल्पलाइन तथा सखी-वन स्टॉप सेन्टर पर सम्पर्क कर वस्तुस्थिति से अवगत कराने के लिए कहा। उन्होने जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देश दिये कि बच्चों का नियमित रूप से फॉलोअप कराते रहें ताकि किसी भी प्रकार की समस्या बच्चों को न करनी पड़े। जिला प्रोबेशन अधिकारी को सभी बच्चों के साथ प्रति दो माह पर बैठक कराने तथा प्रमुख त्योहारों के अवसर पर अनिवार्य रूप से बैठक कराने के निर्देश दिए तथा अगली बैठक में सम्बन्धित जिला स्तरीय अधिकारियों को भी उपस्थित रहने के निर्देश दिये।
जनपद में इस प्रकार के कुल 22 बच्चों में से 06 बच्चों को पी0एम0 केयर्स फॉर चिल्ड्रेन योजना, 2021 के तहत प्रत्येक बच्चे को 10 लाख रूपये की धनराशि की एफ0डी0 कराते हुए सरकार द्वारा चलायी जा रही सभी योजनाओं से लाभान्वित करने के साथ-साथ उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के अन्तर्गत 4000 हजार रूपये प्रतिमाह की धनराशि से भी लाभान्वित किया जा रहा है। 10 बच्चों को उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना से 4000 हजार रूपये प्रतिमाह की धनराशि तथा 12 ऐसे बच्चों जिन्होंने कोविड काल में 01 मार्च, 2020 के पश्चात कोविड-19 से भिन्न किसी भी कारण से अपने माता-पिता दोनों को खोया है, को उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना (सामान्य) के तहत  2500 रूपये प्रतिमाह की धनराशि से लाभान्वित किया जा रहा है।