चौधरी चरण सिंह का पूरा जीवन किसान व मजदूरों के लिए संघर्ष करने में बीता है- रजनीकांत

जिले भर में धूमधाम से मनाई गई पूर्व पीएम स्व0 चौधरी चरण सिंह की 118वीं जंयती

 | 
चौधरी चरण सिंह का पूरा जीवन किसान व मजदूरों के लिए संघर्ष करने में बीता है- रजनीकांत

अवधनामा संवाददाता 

कुशीनगर। किसानों के मसीहा, स्वतंत्रता संग्रामी व पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह की 118वीं जयंती जिले भर में सरकारी, गैर सरकारी कार्यालयों राजनैतिक दलों ने बड़े ही धूमधाम से मनाया। साथ ही स्व0 चौधरी के योगदानो व उनके पद चिन्हों पर चलने का संकल्प लिया। 

स्व0 चौधरी चरण सिंह के जयंती पर किसान सम्मान दिवस व किसान मेले का आयोजन जनपद कुशीनगर के जिला पंचायत परिसर में आयोजित किया गया जिसके मुख्य अतिथि कसया विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी ने रहे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने जमींदारी खात्मा करके किसान व मजदूर का ही नहीं बल्कि पूरे देश का भला किया। उनके इस कदम का देश में कहीं भी विरोध नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि चौधरी चरण सिंह का पूरा जीवन किसान व मजदूरों के लिए संघर्ष करने में बीता है। किसानों में जागरूकता लाने के लिए उन्होंने कहा कि ब्लॉक स्तर पर छोटे-छोटे इवेंट करवाने चाहिए। जिलाधिकारी एस0 राजलिंगम ने कहा कि किसान की अच्छी स्थिति देश के विकास पर असर पड़ता है। जिलाधिकारी ने बताया कि कृषकों की समस्याओं से समय-समय पर जनप्रतिनिधि तथा शासन को अवगत कराया जाता है तथा उन समस्याओं का तत्काल निराकरण भी किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि कृषकों को बारिश या अतिवृष्टि से फसल का नुकसान होता है तो उसका सर्वे कराकर किसानों को लाभ दिलाया जा रहा है। इस मौके पर 97 किसानों को सम्मानित किया गया। उनको क्षतिपूर्ति राशि का भी आवंटन किया जाता है। इस अवसर पर उप कृषि निदेशक आशीष कुमार, जिला कृषि अधिकारी प्यारेलाल, जिला गन्ना अधिकारी वेद प्रकाश, जिला सूचना अधिकारी कृष्ण कुमार व संबंधित विभागों के अधिकारी गण तथा कर्मचारीगण मौजूद रहे।

मेले में लगाये गए स्टॉलों का डीएम ने किया निरीक्षण

जिलाधिकारी द्वारा किसान मेले में अवस्थित विभिन्न स्टॉलों का निरीक्षण भी किया गया। इन स्टॉलों में उद्यान विभाग, नीम में एकीकृत कीट एवं रोग प्रबंधन, मृदा परीक्षण एवं संतुलित उर्वरक, बायो एजेंट्स बायोपेस्टिसाइड द्वारा फसल सुरक्षा, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, फार्मर प्रोड्यूसर कंपनी, त्रिवेणी इंजीनियरिंग एंड इंडस्ट्रीज लिमिटेड गन्ना स्टॉल, अवध शुगर एंड एनर्जी लिमिटेड, इत्यादि प्रमुख थे। इसके साथ-साथ जिलाधिकारी महोदय ने सहफसली कृषि, मिनी ट्रेक्टर उपकरण इत्यादि का भी निरीक्षण किया। जिलाधिकारी ने पत्रकारों से वार्ता के क्रम बताया कि खेती के अलावा यहां विज्ञान तकनीकी की भी जानकारी दी जा रही है। किसानों में जागरूकता का भी प्रचार किया जा रहा है। गन्ना भुगतान में हो रही देरी के संदर्भ में उन्होंने बोलते हुए कहा कि इस संदर्भ में शासन को प्रस्ताव भेजा गया है। कृषकों की आय दोगुनी करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि विभिन्न कंपनियों द्वारा, नई तकनीक के द्वारा, व डेयरी फिशरीज के माध्यम से किसानों की आय दोगुनी करने के लिए ही इस प्रकार की सभाएं आयोजित की जाती है। ये सभाएं किसानों में जागरूकता का प्रसार कर उनकी आय को दोगुना करने में मदद करेंगे।