देश की प्रथम शिक्षिका माता सावित्री बाई फुले की जयंती मनायी

 | 
देश की प्रथम शिक्षिका माता सावित्री बाई फुले की जयंती मनायी

अवधनामा संवाददाता

सहारनपुर।ऑल इंडिया सैनी सेवा समाज ने देश की प्रथम शिक्षिका माता सावित्रीबाई फुले की जयंती पर उनका भावपूर्ण स्मरण करते हुए देश की युवतियांे व महिलाओं को अधिक से अधिक शिक्षित बनाये जाने का संकल्प लिया।
आज संस्था के जिलाध्यक्ष अशोक सेनी के आवास पर आयोजित कार्यक्रम में माता सावित्रीबाई फुले और महात्मा ज्योतिबा फुले के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें नमन किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि विधायक नरेश सैनी ने माता सावित्री बाई फुले के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि अब 200 साल पहले पिछड़े एवं दलित समाज को शिक्षा का अधिकार नही था। महात्मा ज्योतिबाफुले और उनकी पत्नी माता सावित्री बाई फुले की ही देन है। जो आज पिछड़ा समाज पढ़ लिख आगे बढ़ रहा है। माता सावित्री बाई फुले ने सामान्य वर्ग की यातनाएं सहकर महिलाओ को पढ़ने लिखने का अधिकार दिलाया। अगर माता सावित्री बाई फुले नही होती, तो हमारे देश मे प्रतिभा पाटिल राष्ट्रपति, इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री और कई राज्यो में महिलाएं मुख्यमंत्री और अधिकारी नही बन पाती। विधायक मसूद अख्तर ने कहा कि आज हम जिस मुकाम पर है, उसका सारा श्रेय महात्मा ज्योतिबाफुले और माता सावित्रीबाई फुले को जाता है। फुले दंपत्ति एक समाज के लिए नही सर्व समाज के लिए पूज्यनीय हैं। ऐसे में हर किसी को अपने महापुरुषों को सम्मान के साथ याद करते रहना चाहिए। ताकि आने वाली पीढ़ी को भी अपने महापुरुषों के बारे में जानकारी मिलती रहे। इस दौरान ऑल इंडिया सैनी सेवा समाज के जिला अध्यक्ष अशोक सैनी के नेतृत्व में सैनी समाज के लोगों ने फूल मालाएं पहनाकर सभी अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर प्रधान नेत्रपाल सैनी, छत्रपाल सैनी, दीपक सैनी, अभिषेक सैनी, आशीष सैनी, मनीष सैनी, उपेन्द्र सैनी, रविन्द्र सैनी, प्रमोद सैनी, नरेंद्र सैनी, बोबी सैनी, सीताराम सैनी, संजू सैनी आदि मौजूद रहे।कार्यक्रम अध्यक्षता अतर सिंह सैनी ने की और संचालन रोशन लाल सैनी ने किया।