हजरत इनाम उर्रहमान का 68 वा उर्स अकीदत के साथ मनाया

 | 
हजरत इनाम उर्रहमान का 68 वा उर्स अकीदत के साथ मनाया

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। हजरत इनाम उर्रहमान का उर्स स्थित मण्डी समिति रोड़ दरगाह रहमानी पर 68 वाँ उर्स मुबारक धूमधाम से मनाया गया। शुभारंभ फातिहा कुल के साथ हुआ। बाद में जलसा किरात में मुस्लिम विद्वानों द्वारा किरात का मुजाहिरा किया।
फातिहा कुल शरीफ से आरंभ हुए 68 वाँ सालाना उर्स में जायरीन ने दरगाह रहमानी के सज्जादा नशीन पीरजी अरशद रहमानी व पीरजी शुऐब रहमानी की देख-रेख में हजरत शाह इनाम उर्रहमान की मजार पर चादरपोशी की गई। बाद में गुल पोशी में जायरीनों ने मजार मुबारक के करीब बैठकर तिलावत ए कलामपाक करके हजरत शाह इनाम उर्रहमान की खिदमत में इसाले सवाब का नजराना पेश किया। इसके बाद जलसा ए तिरात का आयोजन किया गया। इस दौरान दानिश सिद्दीकी महासचिव उर्दू तालिमी बोर्ड ने कहा कि हजरत शाह इनामुर्रहमान शेखुल मशायक विश्वविख्यात धार्मिक गुरु थे। जिन्होंने सहारनपुर का नाम भारत में ही नहीं पाकिस्तान, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, ईरान,इराक तक पहुँचाया और मानवता का पाठ पढ़ाया। आज हमें उनकी इल्मी रोशनी से फायदा उठाना चाहिए। देश मे पहली  कोरोना की तीसरी लहर व अमनो अमान के लिए दुआये मांगी गई। बाद में कुल शरीफ लंगर की रस्म पूरी की गई। इस दौरान नगर ही नहीं दूर दराज के बड़ी संख्या में जायरीन मौजूद रहे। इस अवसर पर दरगाह रहमानी के मुरीद रफीक रहमानी,नदीम रहमानी,राफे सिद्दीकी, रय्यान सिद्दीकी के अलावा काफी संख्या में अकीदत मंद मौजूद रहे।