दाल,चना,तेल,नमक मूल दुकान से पाने की शर्त से कार्डधारक हैं परेशान

 | 
दाल,चना,तेल,नमक मूल दुकान से पाने की शर्त से कार्डधारक हैं परेशान 

अवधनामा संवाददाता हिफजुर्रहमान

मौदहा-हमीरपुर :महामारी के दौरान शुरू हुई पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना का समापन नवंबर 2021 में हो रहा था।लेकिन, उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने 3 नवंबर को अयोध्या में ऐलान किया कि राज्य सरकार की ओर से अब होली तक सभी पात्र लाभार्थियों को फ्री राशन मेलेगा. इसके अलावा, केंद्र ने भी इस योजना को मार्च 2022 तक बढ़ा दिया है। इतना ही नहीं योगी सरकार राशन कार्ड धारकों को महीने में दो बार गेहूं और चावल मुफ्त में दे रही है। राशन दुकानों से दाल, खाद्य तेल और नमक भी मुफ्त दिया जा रहा है।अगर कहा जाए तो सरकार की मुफ्त राशन योजना देश की सब से बड़ी योजनाओं में से एक है तो गलत नही होगा यही इकलौती योजना है जिस की चर्चा घरों से लेकर चौक-चौराहों, चाए-खानों-पानकी दुकानों तथा गांवों की चौपालों मे आम है और ऐसा लग रहा है कि आगामी विधानसभा चुनावों में सरकार को इस योजना का बड़ा लाभ मिल सकत है , लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार की दाल चना तेल व नमक का लाभ लेने के लिए कार्डधारक को उसी सरकारी दुकान जाना होगा जहां से वह कार्डधारक है जब कि  सरकार नें इ पास मशीन के जरिये यह व्यवस्था की थी कोई भी कार्डधारक अपनी सुविधानुसार जिस कोटे से चाहे अपनी सामग्री प्राप्त करलेते थे इस से दोनों कोटेदार तथा कार्डधारकों को आसानी होती थी लेकिन इस बार प्रदेश सरकार की मुफ्त, दाल, चना, तेल  तथा नमक  पाने के लिए कार्डधारक को अपनी मूल दुकान ही जाना पडेगा जिस से गरीब आदमी को इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है क्योंकि अगर कोई उत्तर प्रदेश के दूसरे शहर में मेहनत मजदूरी के लिए रह रहा है तो वह दाल चना तेल व नमक लेनें अपने मूल कोटे तक जाए जिस से उसे जो लाभ मिलेगा उस से अधिक उस को खर्च करना पड़ेगा ऐसी स्थिति मे बेचारे गरीब  आदमी को मात्र गेहूं चावल लेकर ही सन्तुष्ट होना पड रहा है। कार्डधारक शाईसता कमाल का राशन लखनऊ शहर का है और कोरोना काल में वह अपने पैत्रिक कस्बा मौदहा में रह रही है वह कहती हैं कि हम दाल चना आदि लेनें लखनऊ जाएं या फिर इस योजना के लाभ से वंचित रहें ऐसी  और
 कार्डधारक ममता यादव बीना आदि भी इसी समस्या जे झूझ रही हैं वह कहती हैं मेरे कोटे की मूल दुकान बिदोखर है और हम मौदहा मे रह रहे है इस लिए हमे उत्तर प्रदेश की योजना का फायदा नही मिल रहा है। इस प्रकार की सैकड़ों लोगों की के सामने यही समस्या है जो एक स्वर होकर उत्तर प्रदेश सरकार में मांग करती है कि गेंहूं चावल की तरह दाल चना आदि भी इ पास मशीन के द्वारा उपलब्ध कराई जाए। जिला पूर्ति अधिकारी यादव ने बताया कि शासन की तरफ  से अभी तक  इ पास मशीन में दाल चना आदि की फीडिंग नही हुई है इसी लिए पूर्ण सामग्री का लाभ पानें के लिए मूल दुकान ही जाना पड़ेगा।