बालू के अभाव में विकास कार्य ठप, नही बन पा रहा आवास व शौचायल

सीडीओ को पत्र सौंपकर प्रधान ने सफेद बालू व मिट्टी उपलब्ध कराने की मांग किया

 | 
बालू के अभाव में विकास कार्य ठप, नही बन पा रहा आवास व शौचायल

अवधनामा संवाददाता 

कुशीनगर। विकास खण्ड मोतीचक के दर्जनों गांवों में इन दिनों विकास कार्य ठप हो गया है। कारण सफेद बालू व मिट्टी का अभाव बताया जा रहा है। बालू के अभाव में सैकड़ो लाभार्थियों का आवास व शौचायल निर्माण भी रुक गए है। जिससे शासन के मंशानुरूप विकास कार्यों की गति धीमी होती जा रही है। इस मामले में मथौली बाजार की प्रधान गीता देवी पत्नी राकेश उर्फ भोला यादव ने सीडीओ को पत्रक सौंपकर बालू व मिट्टी की उपलब्धता कराने की मांग किया है। 

बता दें कि उक्त ग्राम सभा के प्रधान मुख्य विकास अधिकारी कुशीनगर को पत्रक सौंपर कर अवगत कराया है कि सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल आवास, शौचायल का निर्माण सफेद बालू के अभाव में ठप पड़ा हुआ। चूँकि छोटी गंडक नदी घाटो से बालू की आपूर्ति पिछले दिनों आसानी से हो जाती थी लेकिन प्रशासन खनन पर रोक लगा दिया है। जिससे बालू की उपलब्धता न होने से ग्राम सभा मे इंटरलॉकिंग, बकरी शैड, मनरेगा पार्क, कायाकल्प, पशु शैड आदि योजनाएं अधर में लटक गया है। उधर आवास के लाभार्थियो रामाश्रय राजभर, मुंसी  साहनी, प्रेम साहनी, हीरा सिंह, मुकुट साहनी आदि का कहना है कि सफेद बालू कि किल्लत पड़ गयी है, आवास का पहला किश्त आया है, करीब एक महीना हो गया है बालू व मिट्टी नही मिल पा रही है जिससे हम लोग कार्य शुरू नही करा पा रहे है। प्रशासन अविलम्ब बालू व मिट्टी का खनन कार्य शुरू कराए जिससे हम लोग आवास बन सके।