शहजाद नदी की दुर्दशा पर बुन्देलखण्ड विकास सेना ने धरना प्रदर्शन किया

पुल का चौड़ीकरण करके घाटों का निर्माण करके सौन्दर्यकरण किया जाये : बु.वि.सेना

 | 
शहजाद नदी की दुर्दशा पर बुन्देलखण्ड विकास सेना ने धरना प्रदर्शन किया

अवधनामा संवाददता

ललितपुर। स्थानीय कम्पनी बाग में बुन्देलखण्ड विकास सेना का साप्ताहिक धरना प्रदर्शन किया गया। सेना कार्यकर्ताओं ने एकत्रित होकर शहजाद नदी की दुर्दशा पर जमकर प्रदर्शन किया गया। सेना प्रमुख हरीश कपूर टीटू ने कहा कि शहजाद नदी शहर के मध्य से निकली है और इसके पुल से होकर प्रतिदिन बड़े बड़े नेता, अधिकारी तथा वीआईपी लोग गुजरते हैं तथा यहाँ से गुजरने पर तीक्ष्ण बदबू सहसा दिल को झकझोर देती है। प्रधानमंत्री की खुले में शौच के खिलाफ मुहिम के बाबजूद शहजाद नदी पर बड़ी संख्या में लोग खुले में शौच कर नदी के पानी और वातावरण को दूषित कर रहे हैं। इसके अलावा हर साल शहजाद नदी में जलकुम्भी जम जाती है। उन्होंने यह भी कहा कि शहजाद नदी में खुली शहर की नालियाँ और सीवर को तत्काल प्रभाव से बन्द किया जाये ताकि पानी को दूषित होने बचाया जा सके। नदी के आसपास का सौन्दर्यकरण करते हुए छायादार पेड़ लगाकर घाट बनाये जाये तथा उचित प्रकाश व्यवस्था की जाय। अँग्रेजों के जमाने के बने उक्त पुल को ऊँचा करके रोड का चौड़ीकरण किया जाये ताकि प्रत्येक वर्ष बारिश के बाद आने वाली बाढ़ से होने वाली असुविधाओं से बचा जा सके। विकास सेना के कार्यकर्ताओं ने शहजाद नदी की समस्याओं को लेकर जमकर नारेबाजी की। इस जिला कमांडेन्ट सुधेश नायक, हेमन्त, राजकुमार कुशवाहा, हनुमत हलवाई, अमरसिंह बुन्देला, प्रदीप गोस्वामी, कदीर खान, नीलू सेन, मुन्ना त्यागी, गौरव विश्वकर्मा, जगदीश झा, गफूर पेन्टर, रामेश्वर कुशवाहा, जगदीश कुशवाहा, अमित जैन, कैलाश मुंशी, राजेश सेन, राजू कुशवाहा, हरीराम कुशवाहा, रवीन्द्र, बबलू, कामता भट्ट, विक्की सोनी, पुष्पेन्द्र शर्मा, बृजेश पारासर, कैफी पठान, रोहित पटेल, प्रदीप प्रजापति, गोलू बाल्मीकि, विवेक बाल्मीकि, मुजम्मिल पठान, नवाजिस खान, भरत चौहान, विक्की बाल्मीकि, आकाश परिहार, खुशाल बरार, प्रमोद धानुक आदि उपस्थित रहे।