भाजपा 19 नवम्बर से मनायेगी आजादी का अमृत महोत्सव

 | 
अवधनामा संवाददाता


अयोध्या। आगामी 19 नवंबर से 16 दिसंबर के बीच मनाये जाने वाले 75वां  स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव के तहत जगह-जगह भारत मां का पूजन, गोष्ठियों, सामुहिक वंदेमातरम का गायन जैसे विविध कार्यक्रम आयोजित होंगे। भारतीय स्वतंत्रता के 15वें वर्ष में अयोध्या जिले में अमृत महोत्सव आयोजन समिति जनपद के ग्रामीण से लेकर नगरीय क्षेत्र तक विविध प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन करने जा रही है। यह जानकारी समिति के संयोजक अवधेश पाण्डेय 'बादल' ने बुधवार को सर्किट हाउस में आयोजित

पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए दी। इस अवसर पर अवध प्रान्त के सहसंयोजक प्रो. रमापति मिश्र, रवि, विनोद तिवारी, मयूरी तिवारी भी उपस्थित रहे। श्री बादल ने बताया कि  भारत की स्वतंत्रता के लिए अनगिनत वीरों ने अपना बलिदान दिया लेकिन तत्कालीन अंग्रेज़ इतिहासकारों ने बहुत सारे मिथक हमारे सामने रखे जिसके कारण समाज में जो विमर्श बना, वह अत्यंत भ्रामक एवं असत्य है। हमें सही इतिहास समाज के सामने लाना चाहिए। 15 अगस्त 1947 को जब हमे स्वतंत्रता प्राप्त हुई तो विश्व की प्राचीनतम सभ्यता नए रूप में सामने आयी। लेकिन विघटनकारी और सत्ता लोलुप शक्तियों के चलते प्रकृति निर्मित अखंडित भारत भूमि खंडित हो गई। स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने का यह वर्ष हमारे लिए सिंहावलोकन का अवसर है। सिटिय उपनिवेशवाद का स्वरूप, प्रक्रिया, संरचना कैसी थी, भारतीय समाज ने किस प्रकार इसका उत्तर दिया तथा स्वराज की संकल्पना जिसमें राजनैतिक स्वतंत्रता के साथ -साथ स्वधर्म, स्वभाषा, स्वदेशी का भाव कैसा था, इसका स्मरण करने का अवसर है। उन्होंने कहा कि हजारों ऐसे भी अज्ञात, गुमनाम क्रांतिकारी, हुतात्मा हुए जिन्हें इतिहास के पृष्ठों में उचित स्थान नहीं मिला, उनका भी स्मरण करने का यह अमृत अवसर है।

बताया कि ऐसे तो 15 अगस्त 2022 तक अमृत महोत्सव के विभिन्न कार्यक्रम चलने वाले हैं परन्तु महारानी लक्ष्मीबाई के जन्मदिवस 19 नवंबर से 16 दिसंबर विजय दिवस 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत की तिथि तक विशेष कार्यक्रमों का आयोजन समिति द्वारा किया जा है। 19 नवंबर को संघ योजना के अयोध्या जिले में सभी खंड स्तर पर स्थानों पर उद्घाटन के कार्यक्रम होंगे। बताया कि एक माह तक चलने वाले अमृत महोत्सव के विविध कार्यक्रमों के अन्तर्गत लगभग 685 गाँव  में भारत माता पूजन, सभी खण्डों के विभिन्न स्थानों पर रथयात्रा, गोष्ठियों, भाषण, वाद विवाद, निबंध लेखन, रंगोली आदि प्रतियोगिताएं, जनपद के विभिन्न पौराणिक महत्व के स्थलों पर दीप प्रज्वलन, स्वदेशी खेल कूद प्रतियोगिता, विभिन्न स्वेच्छिक सामाजिक संगठनों के माध्यम से अन्यान्य कार्यक्रम, जनपद के स्वतंत्रता सेनानियों को प्रदर्शनियों तिरंगा यात्रा आदि कार्यक्रमों की बृहद योजना प्रस्तावित है।

 अमृत महोत्सव समिति में ई. रवि तिवारी, दीपक शुक्ल, राधेश्याम त्यागी एवं पुष्कर तिवारी को जिला सहसंयोजक तथा कैप्टन जेपी दुबे, वेद प्रकाश गुप्ता, प्रवीण सिंह, आनंद द्विवेदी, शिव सिंह, मयूरी तिवारी, श्रद्धा तिवारी, संदीप सिंह बृजेन्द्र दुबे आदि को संयोजन समिति का सदस्य नियुक्त किया गया है। सभी खण्डों की अमृत महोत्सव समितियां बनाई गयी हैं जिनके माध्यम से पूरे जिले में कार्यक्रमों का बृहद आयोजन किया जाएगा।