परिषदीय स्कूलों में मना 'मीना' का जन्मदिन, कटा केक और उड़ी दावत

 | 
परिषदीय स्कूलों में मना 'मीना' का जन्मदिन, कटा केक और उड़ी दावत

अवधनामा संवाददाता

बाराबंकी। शुक्रवार का दिन नगर क्षेत्र के समस्त प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में खास बन गया। रोज की तरह स्कूलों में बच्चे तो आए लेकिन उनको पढ़ाई के बीच में ही पार्टी मनाने की आजादी मिल गई। मौका मीना के जन्मदिन का था। मीना के जन्मदिन पर स्कूलों में केक कटा, मिठाइयाँ बंटी। चाय-समोसे के दौर चले। पूड़ी सब्जी की दावत भी हुई। धमाल भी हुआ और बच्चों को इस मौज मस्ती के बीच में ज्ञान भी परोसा गया।  खण्ड शिक्षा अधिकारी नगर क्षेत्र अर्चना यादव सुबह से ही मोबाइल हो गयीं और घूम-घूम कर स्कूलों में मीना के जन्मदिन का उत्सव देखती रहीं। इसी क्रम में नगर क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय गुलरिया गार्दा बालक व कन्या एवं उच्च प्राथमिक विद्यालय गुलरिया गार्दा में भी मीना का जन्मदिन बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस दौरान विद्यालय की सभी बालिकाओं एवं बालकों ने बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

तथा इस अवसर पर बालिकाओं द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये। बच्चों द्वारा उत्साह भरे माहौल में मीना के रूप में पॉवर एंजल द्वारा केक काटकर मीना का जन्मदिन मनाया गया। मीना मंच कक्ष को पूरा सजाया गया। कार्यक्रम में मौजूद नगर क्षेत्र की खण्ड शिक्षा अधिकारी अर्चना यादव ने बच्चों एवं अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मीना यूनिसेफ द्वारा प्रायोजित एक काल्पनिक चरित्र है। 24 सितम्बर को मीना चरित्र को कहानी का रूप दिया गया था। इसीलिए प्रत्येक वर्ष 24 सितम्बर को मीना का जन्मदिन मनाया जाता है। साथ ही उन्होंने बताया कि मीना क्या है अब ये बात स्कूली छात्राओं को बखूबी समझ आ गई है और वे सब अब पहले से निर्भीक व निडर हुई हैं। इसके बाद उन्होंने बताया कि मीना, एक छोटी सी बालिका है जो लिंग-भेद, बालिका शिक्षा, बाल विवाह, दहेज प्रथा, बाल श्रम, स्वास्थ एवं सफाई, अन्य प्रमुख समाजिक बुराइयों से लड़ती है। कार्यक्रम में मौजूद ए.आर.पी. मंजुला सिंह, ऋषि वर्मा व अरुण कुमार वर्मा ने बारी-बारी से बताया कि मीना एक ऐसा काल्पनिक चरित्र है जो बालिकाओं के मुद्दों को सरल एवं सहज रूप से समझने व समझाने के लिए बनाया गया है। मीना किरदार पर ही बारह कहानियां गढ़ी गई है, जो अंधविश्वास एवं रूढ़िवादिता के प्रति जागरुक करती हैं। इस दौरान बच्चों ने न केवल ज्ञानपरक कहानियां सुनीं, बल्कि विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग भी लिया। तथा खण्ड शिक्षा अधिकारी अर्चना यादव ने विजयी छात्र/छात्राओं को पुरुस्कृत कर उनका सम्मान किया एवं हमारे देश की विभिन्न महिलाओं का उदहारण देकर समस्त बालिकाओं के हौंसले भी बढ़ाया। अन्त में विद्यालय की प्रधानाध्यापिका पारुल शुक्ला ने कार्यक्रम में मौजूद खण्ड शिक्षा अधिकारी महोदया, ए.आर.पी. गण व सभी अभिभावकों का आभार व्यक्त करते हुए तथा मिठाइयाँ व नाश्ता वितरित करते हुए कार्यक्रम का समापन किया। 

इस मौके पर प्रधानाध्यापिका गीता वर्मा, पारुल शुक्ला, शिक्षा मित्र प्रियंका द्विवेदी, नाज़िया ज़ुबैर व विद्यालय के छात्र एवं छात्राएं एवं समस्त अभिभावक भी मौजूद रहें।

सिरौलीगौसपुर प्रतिनिधि के अनुसार विकास खंड सिरौलीगौसपुर के प्राथमिक विद्यालय किंतूर द्वितीय में शुक्रवार को बच्चों के सबसे चेहते चरित्र मीना का जन्मदिन मनाया गया। स्कूल की बच्चियों में से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली छात्रा दिव्या को मीना बनाकर उसे फूल मलाएं पहनाई गई। स्कूल में केक भी काटा गया। इस दौरान स्कूल के सभी बच्चों में खासा उत्साह5 भी देखने को मिला। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि खंड शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार गुप्ता ने मीना की तरह बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की।