बेहट विधायक नरेश सैनी ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का थामा दामन

 | 
बेहट विधायक नरेश सैनी ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का थामा दामन

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। बेहट विधायक नरेश सैनी ने आखिरकार आज कांग्रेस का हाथ छोड़ भाजपा का दामन थामते हुए पूर्व में लगाये जा रहे कयासों को विराम दे दिया है। पिछले लंबे समय से पूर्व विधायक इमरान मसूद के नेतृत्व में कांग्रेस से विधायक बने नरेश सैनी पिछले लंबे समय से अलग थलग चल रहे थे और कयास लगाये जा रहे थे कि वह उनसे अलग होंगे जिसके चलते आज उन्होंने कांग्रेस को अलविदा कहते हुए भाजपा का दामन थाम इन चर्चाओं पर पूरी तरह विराम दे दिया।
लखनऊ में आज बेहट विधायक नरेश सैनी ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह व उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य एवं दिनेश शर्मा के सम्मुख भाजपा की सदस्यता ग्रहण की और अनुमान लगाया जा रहा है कि अब उन्हें बेहट से भाजपा अपना उम्मीदवार बना सकती है। क्योंकि पिछले लंबे समय से विधायक नरेश सैनी कांग्रेस से किनारा कर अलग चल रहे थे और चर्चा थी कि वह इमरान के साथ समाजवादी पार्टी का दामन थामेंगे, लेकिन कुछ दिन पूर्व इमरान मसूद द्वारा अपने आवास पर कार्यकर्ताओं व समर्थकांे की बुलायी बैठक में वह नदारद रहे थे, जिसके बाद से स्पष्ट होने लगा था कि अब विधायक नरेश सैनी इमरान मसूद से इतर होकर चलने का मन बना चुके है, लेकिन विगत् दिवस वह लखनऊ रवाना हुए, तो फिर से चर्चाएं बलवती हुयी की वह इमरान मसूद के साथ समाजवादी पार्टी का दामन थाम लेंगे, लेकिन आज इन सभी चर्चाओं को नकारते हुए बेहट विधायक नरेश सैनी ने एकाएक कांग्रेस के हाथ का साथ छोड़ भाजपा का दामन थाम कमल खिलाने का काम आरंभ किया है। आज लखनऊ के भाजपा कार्यालय पर विधायक नरेश सैनी ने प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह एवं उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा के सम्मुख भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। सभी नेताआंे ने उनका सम्मान करते हुए कहा कि उन्हें पार्टी में पूर्ण मान सम्मान दिया जायेगा। चर्चा है कि उक्त सीट से पूर्व विधायक महावीर राणा अपनी व अपने पुत्र अभय राणा की दावेदारी कर रहे थे, अब उनकी दावेदारी कमजोर पड़ सकती है। चर्चा यह भी है कि वह किसी अन्य दल का दामन भी थाम सकते है। अभी सब कुछ भविष्य के गर्भ में छिपा है, लेकिन नरेश सैनी के भाजपा में शामिल होने से बेहट विस पर भाजपा दावेदारों की पकड़ भी कमजोर सी लग रही है।