एबीडी एरिया के दस चौरोहों का होगा सौंदर्यीकरण

वुडन सिटी व शहर की एंट्री पर बनाये जायेंगे प्रवेश द्वार

 | 
एबीडी एरिया के दस चौरोहों का होगा सौंदर्यीकरण

अवधनामा संवाददाता

सहारनपुर। महानगर के दिल्ली रोड, देहरादून रोड, अम्बाला रोड और बेहट रोड पर बनाये जाने वाले प्रवेश द्वारों का डिजाईन फाइनल हो चुका है। इनके निर्माण का कार्य भी जल्द शुरु किया जायेगा। इसके अलावा वुडन सिटी (खाताखेड़ी ) के लिए भी एक प्रवेश द्वार बनाये जाने की योजना है। महानगर के 22 स्कूलों में स्मार्ट क्लास का कार्य भी दिसंबर तक पूरा कर दिया जायेगा। इसके अलावा जनमंच के बराबर में इंटरनेशनल कन्वेंशन संेटर का निर्माण भी कराया जायेगा। एबीडी एरिया के दस चौराहो के चारों ओर सौ-सौ मीटर क्षेत्र को विकसित कर सौंदर्यकरण किया जायेगा।

यह जानकारी बुधवार को सहारनपुर स्मार्ट सिटी की सिटी लेवल एडवाइजरी फोरम की बैठक में स्मार्ट सिटी के सीईओ व नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि मेला गुघाल क्षेत्र का सौंदर्यीकरण कर उसके लिए एक प्रवेश द्वार बनाने की भी योजना है। उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी के तहत कुछ नये प्रोजेक्ट लिए गए हैं। उन्होंने जानकारी दी कि जुबलीपार्क में मल्टीलेवल कार पार्किंग, वुडन सिटी में एक वुडन काम्पलेक्स का निर्माण, अंबाला रोड स्थित बस स्टैंण्ड पर कॉमर्शियल कॉम्पलेक्स कम पार्किंग का निर्माण शीघ्र शुरु कराया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रभुजी की रसोई के विस्तारीकरण का कार्य प्रगति पर है जबकि स्मार्ट ई लाईब्रेरी का कार्य दिसंबर तक पूर्ण कराने का लक्ष्य रखा गया है।

ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि शहर की सबसे बड़ी समस्या सीवरेज समस्या है। नमामि गंगे, स्मार्ट सिटी व अमृत योजना के तहत तीनों को मिलाकर एक इंटेग्रेटेड प्लान बनाया गया है, उसे अंतिम रुप देने के लिए अभी कार्य चल रहा है। उन्होंने बताया कि शहर के नौ पार्काे लक्ष्मीनगर पार्क, पटेल नगर, सुभाष नगर, जुबली पार्क, मदनपुरी, गांधी पार्क, महावीर पार्क व म्युनिसपिल कॉलोनी पार्क में दोबारा सौंदर्यकरण का कार्य शुरु कराया गया है, जो 15 दिसंबर तक पूरा करा दिया जायेगा। उन्होंने कार्यदायी संस्था को चेतावनी दी कि गुणवत्ता से किसी तरह का कोई समझौता नहीं किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा शहर के सभी 162 पार्काे और सभी स्कूलों को सौंदर्यीकरण की कार्ययोजना में शामिल किया गया है। प्रथम चरण में स्कूलों की चारदीवारी और गेट व रंगाई-पुताई आदि का कार्य कराया जायेगा। जबकि पूर्व में चयनित महानगर के 22 स्कूलों में स्मार्ट क्लास का कार्य दिसंबर तक पूरा कर दिया जायेगा।

उन्होंने बताया कि आईसीसीसी कमांड कंट्रोल सेंटर का कार्य लगभग पूरा हो चुका है जो शहर की एक बड़ी उपलब्धि है। शहर में 296 लोकेशन पर 860 कैमरे लगाये जायेंगे। इससे न केवल कूड़ा उठान व ट्रैफिक आदि को नियंत्रित किया जा सकेगा बल्कि कानून व्यवस्था की दृष्टि से भी ये काफी उपयोगी होंगे। उन्होंने बताया कि महानगर में सेफ सिटी, सिटी डवलपमेंट प्लान और स्मार्ट सिटी तीन परियोजनाओं के तहत कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के तहत एबीडी एरिया के 21 वार्डाे के विकास पर पूरा फोकस है। नगरायुक्त ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि ढमोला क्षेत्र में पांवधोई के किनारे एक और सड़क व पुल बनाकर यातायात सुगम करने की योजना है। उन्होंने इस पर सभी लोगों से सुझाव भी मांगे।

स्मार्ट सिटी सीईओ ने बताया कि दालमंडी, सब्जी मंडी व चतरा पुल में से एक चतरा पुल का कार्य लगभग पूरा हो गया है। उन्होंने सुझाव मांगा कि दूसरे किस पुल का निर्माण कार्य शुरु कराया जाए। इस पर पूर्व सांसद राघव लखनपाल शर्मा, भाजपा के वरिष्ठ नेता कृष्ण लाल अरोड़ा, पूर्व विधायक राजीव गुुुंबर, मुकेश चौधरी, पार्षद पुनीत चौहान व मुकेश गक्खड़ का सुझाव था कि चुनाव के बाद ही पुल निर्माण का कार्य शुरु किया जाना चाहिए। उन्होंने सुझाव मांगा कि सहारनपुर को 50 सीएनजी बसे आवंटित है ये बसे कहां से कहां तक चलायी जाएं।

पार्षद मंसूर बदर ने क्रेगी नाले को अंडर ग्राउंड कर किशनपुरा तक एक रिंगरोड बनाने का सुझाव दिया। नगरायुक्त ने बताया कि इसे कार्ययोजना में शामिल किया गया था लेकिन कुछ लोगों का सुझाव है कि इसे खुला ही रखा जाए, अतः इस पर अभी मंथन किया जा रहा है। पार्षद मंसूर ने कुतुबशेर से रायवाल चौक तक सड़क व नाले को व्यवस्थित कराकर एक मॉडल रोड बनाये जाने की मांग करते हुए कहा कि देश के अलावा विदेशों से भी लोग लकड़ी बाजार आते है। डॉ. पी के शर्मा व कुलभूषण जैन ने जानना चाहा कि पांवधोई रिवर फ्रंट का मामला क्यों निरस्त कर दिया गया है। नगरायुक्त ने बताया कि वह निरस्त नहीं है,कुछ तकनीकी कारणों से उसे अभी रोका गया है। पार्षद प्रतिनिधि सईद सिद्दकी ने बाबा लालदास बाड़ा,हाजी शाह कमाल व फुलवारी आश्रम को एक इंटीग्रेटेड स्थल के रुप में विकसित किये जाने की योजना के संबंध में जानकारी मांगी। नगरायुक्त ने बताया कि तीनों संस्थाओं के पदाधिकारियों से समन्वय कर इसे आगे बढ़ाया जायेगा। विधायक संजय गर्ग के प्रतिनिधि विपिन जैन, गुलशेर, फजलुर्रहमान, इमरान सैफी आदि पार्षदों ने 52 फुटा रोड को विकसित करने का सुझाव दिया।

इसके अलावा शीतल टंडन, अल्पना तलवार, आर के जैन, पार्षद भूरासिंह प्रजापति, अंकुर अग्रवाल, आशुतोष सहगल, विराटपुरी,राखी रोहिला, गोपालदास, मानसिंह जैन,यशपाल कोरी आदि ने भी सुझाव दिए। बैठक में उक्त के अलावा अपर नगरायुक्त राजेश यादव तथा जल निगम, स्मार्ट सिटी तथा नगर निगम के अधिकारी और शहर के अनेक गणमान्य लोग मौजूद रहे।