माटीकला का कार्य करने वाले प्रजापति समाज के उत्कृष्ट कारीगरों को किया गया पुरस्कृत

प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार विजेताओं को चेक, अंग वस्त्र, प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह भेंट कर किया गया सम्मानित
 
 | 
माटीकला का कार्य करने वाले प्रजापति समाज के उत्कृष्ट कारीगरों को किया गया पुरस्कृत

अवधनामा संवाददाता 

प्रयागराज।  परिक्षेत्रीय ग्रामोद्योग अधिकारी  राम औतार यादव द्वारा अवगत कराया गया कि उ0प्र0 माटीकला बोर्ड के तत्वावधान में मण्डल स्तरीय माटीकला पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन मंगलवार को आर्शीवाद गेस्ट हाउस, जगराम चैराहा में किया गया, जिसमें प्रयागराज मण्डल के जनपद-प्रयागराज, कौशाम्बी, फतेहपुर व प्रतापगढ़ के प्रजापति समाज के मूर्तिकारों/शिल्पकारों को उनके द्वारा निर्मित उत्पादों की लघु प्रदर्शनी में किये गये प्रदर्शन के आधार पर चयन समिति द्वारा प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार हेतु चयन किया गया।
चयन समिति में मुख्य चयनकर्ता के रुप में डा0 नगीना राम (माडलर) राष्ट्रीय संग्रहालय प्रयागराज, रवीन्द्र कुशवाहा प्रवक्ता (चित्रकला) डी0ए0वी0 इण्टर कालेज प्रयागराज, सदस्य, राज्य ललित कला अकादमी लखनऊ, महेन्द्र कुमार मिश्रा जिला ग्रामोद्योग अधिकारी कौशाम्बी व राकेश मोहन गुप्ता ज्ये0 लेखा परीक्षक परिक्षेत्रीय ग्रामोद्योग कार्यालय प्रयागराज उपस्थित रहे।
वित्तीय वर्ष-2019-20 के लिये प्रथम पुरस्कार  जोनू कुमार प्रजापति निवासी प्रयागराज, द्वितीय पुरस्कार  नन्द किशोर प्रजापति निवासी प्रयागराज व तृतीय पुरस्कार शारदा प्रसाद निवासी कौशाम्बी। वित्तीय वर्ष-2020-21 के लिये प्रथम पुरस्कार राम नरेश प्रजापति निवासी प्रयागराज, द्वितीय पुरस्कार  रंग बहादुर निवासी प्रयागराज व तृतीय परस्कार रामेन्द्र कुमार निवासी फतेहपुर प्रदान किया गया। प्रथम, द्वितीय व तृतीय विजेताओं को क्रमशः रू0-15,000.00, 12,000.00 व 10,000.00 का चेक, अंग वस्त्र, प्रमाण-पत्र व स्मृति चिन्ह मुख्य अतिथि  रमा शंकर शुक्ला सदस्य उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के कर कमलों द्वारा दिया गया।
इस अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा प्रजापित समाज के कारीगरों को सम्बोधित करते हुये कहा गया कि शिल्पियों द्वारा निर्मित कला-कृतियों में उनकी भावनाओं का चित्रण परिलक्षित रहता है। जिसका सम्मान प्रदेश की सरकार द्वारा उनेक बनाये गये कला-कृतियों को उ0प्र0 खादी तथा ग्रामोद्योग एक संवाहक के रुप में कार्य कर रहा है। हमारे प्रदेश के शिल्पकारों ने अपनी कला कृतियों से इस धरती पर तरह तरह के नये आयाम दिये, जिसकी प्रशंसा देश ही नही विदेशों में भी आज भारतीय सामानों की माँग और उनकी गुणवत्तापरक बाजारों में अपनी गहरी छाप छोड़ रखी है। सदस्य जी ने कहा कि सरकार ऐसे शिल्पियों के चैहूमुखी विकास के लिये प्रतिबद्ध है। आज प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना व मुख्यमंत्री माटीकाल रोजगार योजना के तहत रोजगार की एक नयी दिशा प्रदान कर रहा है। जिसके तहत उ0प्र0 के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह  के द्वारा बड़े पैमाने पर उत्पाद के सरलीकरण में आधुनिक विद्युत चालित चाक को वितरित करने कराने का कार्य किया गया है, जिसके फलस्वरुप प्रदेश के बेरोजगार नौजवानों को अपने स्वरोजगार में एक नयी दिशा मिली है और आज उत्तर प्रदेश उत्तम प्रदेश की ओर अग्रसर है। इस अवसर पर  राम लोचन साहू प्रतिनिधि मंत्री खादी ग्रामोद्योग विभाग, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी प्रयागराज, कौशाम्बी, फतेहपुर व प्रतापगढ उपस्थित रहे। इस समारोह में  ननकू,  रामनरेश प्रजापति ने भी अपने विचार रखे व भारी संख्या में प्रजापति समाज के कारीगर व शिल्पी उपस्थित रहे।