जयराम ने आते ही बिगाडे क्षेत्रीय समीकरण , जातीय समीकरण से बढत की उम्मीद

 | 
जयराम ने आते ही बिगाडे क्षेत्रीय समीकरण , जातीय समीकरण से बढत की उम्मीद 

अवधनामा संवाददाता
 

बाँदा  तिंदवारी विधानसभा से बहुजन समाजवादी पार्टी ने वर्तमान जिला पंचायत सदस्य की सीट पर लगातार दो बार से विजयी श्रीमती सीता सिंह के पति और वरिष्ठ समाजसेवी जयराम सिंह को तिंदवारी विधानसभा से प्रत्यासी बनाया है , वर्तमान मे यह सीट भारतीय जनता पार्टी के खाते मे है और ब्रजेश प्रजापति विधानसभा मे प्रतिनिधित्व कर रहे हैं ।

जयराम सिंह ने अपना राजनैतिक जीवन छात्र जीवन मे ही प्रारम्भ कर दिया था और इलाहाबाद यूनीवर्सिटी की राजनीती ने परिपक्व राजनैतिक बना दिया ।  इनके साथ समाज के सभी वर्गो के लोग सीधे जुडे हैं ।

इनकी लोकप्रियता का कारण इनका सहज और मिलनसार व्यक्तित्व है ,यूवाओं और हर वर्ग के मतदाता का साथ भी इनको मिलने से इनकी लोकप्रियता बढा रहा है ।समाजसेवा के साथ साथ जयराम सिंह ठेकेदारी के व्यवसाय से भी जुडे रहे हैं और वर्तमान मे परिवहन के क्षेत्र से भी जुडे  हैं ।

 जयराम सिंह विगत कई वर्षो से बहुजन समाज पार्टी के साथ जुडे हुये हैं और तिंदवारी क्षेत्र के कुरसेजा धाम मे कई सामाजिक कार्य किये हैं । टिकट मिलने पर अवधनामा के संवाददाता से बातचीत मे उन्होने बताया कि पूर्व बसपा सरकार ने ही सबसे अधिक विकास के कार्य किये हैं जैसे जनपद बाँदा मे मेडिकल कालेज , आउटर रिंगरोड , कृषि विश्वविद्यालय सहित कई विकास के कार्य किये गये जबकि कुछ कार्य पूरा होते होते रह गये जिसको सपा और भाजपा ने अपने कार्यकाल मे पूर्ण नही होने दिया गया उनको प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करवाना है जिनमे प्रमुख रूप से दुरेडी बाईपास पर सेतु निर्माण प्रमुख है ।

एक अन्य प्रश्न के जवाब मे उन्होने बताया कि अन्ना जानवर हमारी बडी समस्या है जहां आज व्यक्ति अपने आप को नही पाल पा रहा है वो अपने जानवरों को कैसे और क्या खिलायेगा इस समस्या के लिये हमे सबसे पहले क्षेत्र मे औद्यौगिक क्रांति लानी होगी जिससे पलायन को रोका जा सके और जनपद मे स्वावलम्बन रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जाये ।

अगर हमारी सरकार बनी तो यह सब सम्भव होगा और हम ऐसा करके दिखायेगें ।