एक और इनामियां अपराधी को पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ा

तमंचा, बिना नंबर प्लेट की बाइक बरामद 
 
 | 
एक और इनामियां अपराधी को पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ा 

अवधनामा संवाददाता

बांदा। अपराधियों पर इस समय खाकी की दहशत सिर चढ़कर बोल रही है। चुन-चुनकर अपराधियों को पकड़कर सलाखों के पीछे भेजा जा रहा है। इस दौरान पुलिस मुठभेड़ करने से भी नहीं चूक रही। चिल्ला थाना क्षेत्र के पपरेंदा मोड़ के समीप पुलिस पर फायर झोंकने के बाद मौके से भाग रहे 50 हजार के इनामी बदमाश को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। 
शहर के नोनिया मुहाल निवासी विकास हजारिया पुत्र कमलेश कुमार सोमवार की रात पैलानी की तरफ से मोटरसाइकिल लेकर घर आ रहा था, रात करीब 10 बजे चिल्ला पुलिस और एसओजी की टीम संदिग्ध वाहनों की पपरेंदा मोड़ के पास चेकिंग कर रही थी। इसी बीच पुलिस ने बाइक सवार को रोकने की कोशिश की। पुलिस को देखकर बदमाश बाइक की रफ्तार तेज कर तिंदवारी की तरफ भागने लगा। तभी एसओजी और चिल्ला पुलिस ने उसका पीछा किया। अपने बचाव में उसने पुलिस टीम पर तमंचे पर फायर किया। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए उसे गोली मार दी। गोली उसके दाहिने पैर के घुटने के नीचे जा लगी। वह लहूलुहान होकर गिर गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे दबोच लिया। घायल को जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया। पुलिस ने घटनास्थल से तमंचा, कारतूस व बिना नंबर प्लेट की मोटरसाइकिल व मोबाइल बरामद किया है। पुलिस अधीक्षक अभिनंदन ने बताया कि घायल विकास हजारिया शातिर अपराधी है। उस पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित है। उसके विरुद्ध प्रतापगढ़, बांदा कोतवाली, चिल्ला थाने में लूट, आर्म्स एक्ट सहित आठ मुकदमे दर्ज हैं। टीम में एसओजी प्रभारी मयंक चंदेल, चिल्ला थाना प्रभारी नरेंद्र प्रताप सिंह, पपरेंदा चौकी प्रभारी धर्मेन्द्र सिंह आदि शामिल रहे।