देश को गुलामी से बचाने के लिए किया सपा से गठबंधन: राजेश

 | 
देश को गुलामी से बचाने के लिए किया सपा से गठबंधन: राजेश   

अवधनामा संवाददाता 

सहारनपुर। पालिटिकल जस्टिस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश कुमार सिद्वार्थ ने कहा कि भाजपा के शासनकाल मे देश का संविधान व लोकतंत्र खतरे मे है देश को गुलामी से बचाने के लिए ही पालिटिकल जस्टिस पार्टी ने समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन किया है उन्होंने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश मे अखिलेश यादव के नेतृत्व मे पूर्ण बहुमत की सरकार बनेगी।
पालिटिकल जस्टिस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेश कुमार सिद्धार्थ आज यहां सपा जिलाध्यक्ष चौ.रूद्रसैन के साथ अंबाला रोड स्थित सपा जिला कार्यालय पर पत्रकारों के साथ वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि देश का संविधान खतरे में है। अंधविश्वास, जातिवाद, अपराध, अत्याचार, और भ्रष्टाचार की आंधी ने कमजोर एवं पिछडे वर्ग के लोगों मेभय व्याप्त है। उन्होंने कहा कि एससीएसटी व ओबीसी के आरक्षण पर लगातार हमला हो रहा है। अल्पसंख्यकों को कही भी हिस्सेदारी नही मिल रही है। इसी तरह स्थानांतरण व पोस्टिंग जातिवाद के पर्याय बन गये है। उन्होंने कहा कि पालिटिकल जस्टिस पार्टी ने सपा के साथ गठबंधन कर विपक्ष को मजबूत करने का काम किया है, ताकि सपा को मजबूत बनाकर अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाकर संविधान,आरक्षण और कानून व्यवस्था को मजबूत बनाया जा सकंे। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश मे सपा गठबंधन सरकार बनने पर पदोन्नति में आरक्षण बहाल कर एससीएसटी,ओबीसी व माइनोरिटी का बैकलॉग भरा जायेगा। उन्होने बताया कि 2अप्रैल 2018 के मुकदमे समाप्त करने, जातीय जनगणना कराकर उसके अनुरूप सबको हिस्सेदारी देने, पुरानी पेंशन बहाल करने,जातिवाद खत्म करने के लिए स्थानांतरण का रोस्टर बनाने, एक समान मुफ्त शिक्षा, चिकित्सा व न्याय दिलाने पर भी सहमति बनी है। सपा जिलाध्यक्ष चौधरी रुद्रसैन ने कहा कि सपा के साथ गठबंधन मे शामिल सभी दलो को साथ लेकर आगामी विधानसभा चुनाव बडी मजबूती के साथ लडा जायेगा, ताकि उत्तर प्रदेश की जनता को भाजपा की जालिम सरकार से मुक्ति दिलाई जा सकें। वार्ता के दौरान पूर्व मंत्री विनोद तेजयान, भूषण दत्त चौहान, चौधरी प्रवीन बांदूखेडी,रागिब अली जिला सचिव, राव वजाहत, राजेश सैनी बडकला, जिला उपाध्यक्ष हसीन कुरैशी,संदीप अच्छन यादव,सोनू चौधरी, अब्दुल गफूर,मुस्तफा नवाजपुर, फैसल सलमानी, कवरपाल गुर्जर, वेदपाल पटनी,मांगेराम सलेमपुर आदि मौजूद रहे।