तीन बार चुनाव हारने के बाद चौथी बार चुनाव जीतने की फिराक में है तनुज पुनिया

 | 
तीन बार चुनाव हारने के बाद चौथी बार चुनाव जीतने की फिराक में है तनुज पुनिया

अवधनामा संवाददाता (श्रवण चौहान)

बाराबंकी। कांग्रेस पार्टी में पुनिया खानदान का दबदबा आज भी कायम है। यही वजह है कि बाराबंकी जनपद में भी पुनिया खानदान अपना दबदबा कायम किए हुए हैं । पुनिया खानदान के आगे बाराबंकी जनपद में किसी कांग्रेसी नेता का दबदबा नहीं रहा है। चाहे वह जमीनी नेता हो या फिर पुराने नेता अगर बाराबंकी में कांग्रेस पार्टी में अपना पद मजबूत रखना है तो पुनिया खानदान से मेल चाल रखना होगा। हम बात कर रहे हैं पीएल पुनिया खानदान की जो बाराबंकी जनपद ही नहीं पूरे  कांग्रेस  पार्टी में अपना दबदबा कायम किए हुए हैं । लेकिन सबसे दुख की बात यह है कि पीएल पुनिया के पुत्र तनुज पुनिया अभी तक एक बार भी ना तो लोकसभा का चुनाव जीत सके ना ही राज्यसभा का तनुज पुनिया अब तक करीब 3 बार चुनाव लड़ चुके हैं । लेकिन इन्हीं जीत हासिल नहीं हुई है। एक बार फिर ज़ैदपुर विधानसभा से तनुज पुनिया तैयारी कर रहे हैं। लेकिन ऐसे में बड़ा सवाल है कि जब 3 बार चुनाव हार चुके हैं तो तनुज पुनिया पर कांग्रेस क्यों मेहरबान है । फिलहाल तनुज पुनिया लोगों के बीच जाकर चुनाव की तैयारी कर रहे हैं । इसके अलावा अगर पुनिया खानदान ने बाराबंकी में क्या विकास कार्य कराए अगर इस पर चर्चा किया जाए तो दर्जनों विकास कार्य पीएल पुनिया ने कराया है। बाराबंकी की मूल समस्याओं को निस्तारित करने का काम किया है।  एक बार फिर तनुज पुनिया अपनी किस्मत आजमाते हुए चुनाव की तैयारी जोरों शोरों से कर रहे हैं। तनुज पुनिया अब लोगों के बीच जाकर सत्ताधारी सरकार की खामियों को गिनाने के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी की खूबियां बताने का काम कर रहे हैं और अपने पिता पीएल पुनिया के किए हुए कार्यों को भी बता रहे हैं। अब देखना यह बड़ी बात है कि कांग्रेस पार्टी इन्हें दोबारा टिकट देती है या फिर नहीं। अगर टिकट देती है तो क्या अब की बार चुनाव जीतकर  विधायक की कुर्सी अपने नाम करते हैं या नहीं, यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि जनता किसे अपना विधायक चुनती है।