धीमी गति से गेंदबाजी करने पर टीम इंडिया को लगा झटका,आइसीसी ने लगाया जुर्माना

 | 
धीमी गति से गेंदबाजी करने पर टीम इंडिया को  लगा झटका,आइसीसी ने लगाया जुर्माना

सेंचुरियन। भारतीय क्रिकेट टीम ने साल का अंत साउथ अफ्रीका के खिलाफ शानदार टेस्ट जीत के साथ किया। सेंचुरियन में मेजबान टीम के खिलाफ भारत ने 113 रन की बड़ी जीत हासिल की। इस मैच में जीत की खुशी के साथ ही टीम को झटका भी लगा। मैच रेफरी ने टीम इंडिया पर मैच के दौरान धीमी गति से गेंदबाजी करने की वजह से जुर्माना लगाया।

बाक्सिंग डे यानी 26 दिसंबर को दोनों देशों के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मुकाबला शुरू हुआ था। पांचवें दिन इस मैच का नतीजा भारतीय टीम के हक में आया। 191 रन पर दूसरी पारी में मेजबान को ढेर कर टीम इंडिया ने जीत हासिल की। साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में धीमी ओवर गति के लिए भारतीय क्रिकेट टीम पर शुक्रवार को मैच फीस का 20 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया।

आइसीसी ने कहा कि इस अपराध के कारण भारत को आइसीसी पुरुष विश्व टेस्ट चैंपियनशिप से एक अंक का नुकसान होगा। एमिरेट्स आइसीसी एलीट पैनल के मैच रेफरी एंड्रयू पाइक्राफ्ट ने तय समय में एक ओवर कम गेंदबाजी करने पर भारत पर यह जुर्माना लगाया। कप्तान विराट कोहली ने इस आरोप को स्वीकार कर लिया, इसलिए इसकी औपचारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी। मैदानी अंपायर मरियस इरास्मस, एड्रियन होल्डस्टाक के अलावा तीसरे अंपायर अलाउद्दीन पालेकर और चौथे अंपायर बोंगानी जेले ने ये आरोप लगाए थे।

भारत ने इस मैच में पहली पारी में उप कप्तान केएल राहुल के शतकीय पारी के दम पर 327 रन बनाए थे। इसके बाद मोहम्मद शमी की बेहतरीन गेंदबाजी के दम पर प्रोटियाज टीम को पहली पारी में 197 रन पर रोक 130 की बड़ी बढ़त हासिल की। दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाज नहीं चले और 174 पर पूरी टीम आलआउट हो गई। साउथ अफ्रीका के सामने जीत के लिए 305 रन का बड़ा लक्ष्य था जिसके आगे उन्होंने घुटने टेक दिए। भारत ने सेंचुरियन में जीत के साथ इतिहास रचा यहां इससे पहले कोई एशियन टीम जीत दर्ज नहीं कर पाई थी।