Home EPaper Urdu EPaper Hindi National Uttar Pradesh Special Report Editorial Muharram Entertainment Health

क्रिकेट इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ

ads

नई दिल्ली : क्रिकेट के खेल में कब क्या हो जाए कोई कुछ नहीं सकता. कौन सा खिलाड़ी कब क्या कारनामा कर देगा, कहा नहीं जा सकता. क्रिकेट के इतिहास में खिलाड़ियों ने कई ऐसे रिकॉर्ड बनाए हैं, जो हमेशा याद किए जाएंगे. क्रिकेट में वैसे तो कई रिकॉर्ड बनते और टूटते रहते हैं, लेकिन बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने एक ऐसा कारनामा कर दिया है, जो इतिहास में ना पहले कभी हुआ है और ना ही कभी होगा.
दरअसल, बांग्लादेश के एक क्लब ने 88 रनों के लक्ष्य का पीछा चार गेंदों में ही कर लिया और मैच 10 विकेट से जीत लिया. लेकिन कैसे हुआ ये? पहला ओवर फेंकने वाले गेंदबाज ने चार वैध गेंदें फेंकी, जिसमें उसने 92 रन दिए. लेकिन क्या ऐसा बल्लेबाजों की करामात से हो पाया?

जब इस खबर की चर्चा शुरू हुई तो इसके पीछे की सच्चाई सामने आई. लालमटिया की टीम को भी इसपर कोई आश्चर्य नहीं था. ऐसा इसलिए की महमूद को टीम का पूरा सपोर्ट था. इसके पीछे अंपायर को दोषी ठहराया जा रहा है. अंपायर के खिलाफ अपना विरोध जताने के चलते ऐसा गेंदबाज ने किया. लालमटिया टीम मैच के अंपायर ने नाराज थी, जिसके बाद उन्होंने एक सोची समझी रणनीति के तहत ओवर की अधिकतर गेंद वाइड और नो फेंका.

लालमाटिया क्लब के गेंदबाज सुजोन महमूद ने ढाका में खेली गई सेकंड डिवीजन क्रिकेट लीग में 80 अतिरिक्त रन दे डाले, जिसमें 65 रन 13 वाइड बॉल से, और 15 रन तीन नो बॉल से दिए. इस अजीबोगरीब कारनामें को उन्होंने एक्जियोम क्रिकेटर्स के खिलाफ सिटी क्लब क्रिकेट ग्राउंड में बुधवार को अंजाम दिया. एक्जियोम के बल्लेबाज 12 रनों पर बल्लेबाजी कर रहे थे जिसमें तीन चौके शामिल थे. यह मैच पूरे 1 घंटा 34 मिनट तक चला.

इसके पहले लालमाटिया 14 ओवरों में 88 रनों पर ऑलआउट हो गई. एक बल्लेबाज रन आउट हुआ, दो पीछे कैच किए गए, तीन एल्बीडब्ल्यू(पगबाधा) , और एक स्टंपिंग आउट हुआ. बहरहाल, खिलाड़ियों का मानना था कि अंपायर ने दूसरी टीम की तरफदारी की.

अदनान रहमान, लालमाटिया जनरल सेक्रेटरी ने कहा, “ये सब टॉस के वक्त शुरू हुआ और हमारे कप्तान को टॉस का क्वाइन(सिक्का) नहीं देखने दिया गया. हमें बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया गया. और जैसा कि उम्मीद की जा रही थी अंपायर का निर्णय हमारे खिलाफ आया और टीम कम स्कोर पर ऑलआउट हो गई. हमारे खिलाड़ी युवा हैं जिनकी उम्र 17, 18 और 19 साल है. वे ये अन्याय बर्दाश्त नहीं कर सके और चार गेंदों में 92 रन दे डाले.

ads

Leave a Comment

ads

You may like

Hot Videos
ads
In the news
post-image
Sports

टीम इंडिया की जीत से कोहली हैरान क्यों हैं?

वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई दो मैचों की टेस्ट श्रंखला में भारत ने 2-0 से धमाकेदार जीत दर्ज की है. रविवार को भारत ने हैदराबाद टेस्ट में 10 विकेट...
post-image
Sports

पाकिस्तान के ख्वाजा उस्मान की शतकीय पारी ने ऑस्ट्रेलिया को हार से बचाया

सलामी बल्लेबाज उस्मान ख्वाजा की 141 की बेहतरीन पारी और ट्रेविस हेड की 72 व कप्तान टिम पेन के नाबाद 61 रनो की बदौलत ऑस्ट्रेलिया ने दुबई अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट...
post-image
Sports

Asia Cup 2018 फ़ाइनल: कौन मारेगा बाज़ी, क्या 32 साल का सूखा खत्म होगा?

आज भारत की टीम 7वीं बार एशिया कप का खिताब जीतने के लिए बांग्लादेश से भिड़ेगी. ये मुक़ाबला दुबई स्थित दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला जाएगा. पाकिस्तान को मात देकर...
post-image
Sports

सरफराज ने कहा, मैं खिलाड़ी के रूप में फ्लॉप हुआ

पाकिस्तान के कप्तान सरफराज अहमद बांग्लादेश से मिली करारी हार से बेहद निराश नज़र आए. अपने खराब प्रदर्शन का ज़िक्र करते हुये उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि हम...
Load More
ads