मंत्री मलिक को मानहानि मामले में नोटिस, आखिर क्या है मामला ?

 | 
 मंत्री मलिक को मानहानि मामले में नोटिस, आखिर क्या है मामला ?

मुंबई मुंबई क्रूज शिप ड्रग्स मामले के सामने आने के बाद राज्य के मंत्री नवाब मलिक ने एनसीबी के अधिकारी और कई अन्य के खिलाफ प्रेस कॉन्फ्रेंस करके और सोशल मीडिया पर सवाल उठाए हैं। इसके बाद जमकर आरोप-प्रत्यारोप हुए हैं, अब यह मामला न्याय के लिए कोर्ट में पहुंच गया है। सोमवार को एक मजिस्ट्रेट कोर्ट ने मुंबई भाजपा की युवा इकाई के पूर्व अध्यक्ष मोहित भारतीय की ओर दायर आपराधिक मानहानि की शिकायत पर मंत्री मलिक को नोटिस जारी किया है। अब इस मामले में 29 नवंबर को सुनवाई होगी।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि मलिक के बयानों से प्रथम दृष्टया शिकायतकर्ता मोहित की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचा और आईपीसी की धारा 500 (मानहानि) के तहत मामला बनता है। एनसीबी की एक टीम ने पिछले महीने मुंबई तट के पास एक क्रूज जहाज पर छापा मारा था और दावा किया था कि जहाज से ड्रग्स जब्त किया गया है।

इस मामले में अभिनेता शाहरुख खान के पुत्र आर्यन खान सहित 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। बाद में आर्यन खान और कुछ अन्य आरोपियों को जमानत मिल गई थी। मलिक ने बार-बार क्रूज मामले को फर्जी करार दिया और उन्होंने एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेडे के खिलाफ कई आरोप लगाए हैं। हालांकि, वानखेड़े ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया है।

मोहित ने मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट के समक्ष दायर अपनी शिकायत में दावा किया कि मलिक ने एनसीबी की छापेमारी और आर्यन खान सहित कई लोगों की गिरफ्तारी को लेकर 9 अक्टूबर को एक प्रेस कांफ्रेस करके उन्हें और उनके रिश्तेदार ऋषभ सचदेव को जानबूझकर बदनाम किया।