BJP ने बढ़ाई निगरानी,कहीं पार्टी को झटका न दे जाएं ये 13 विधायक

 | 
BJP ने बढ़ाई निगरानी,कहीं पार्टी को झटका न दे जाएं ये 13 विधायक


कानपुर।  दो भाजपा विधायकों के पाला बदलने से मध्य-यूपी और बुंदेलखंड में सियासी तूफान मचा है। टिकट कटने की चर्चाओं के बीच विधायकों की तगड़ी निगरानी हो रही है। सूत्रों के मुताबिक इस क्षेत्र के 20  विधायकों के टिकट कटने की चर्चा है, उनमें से 13 पाला बदलने की तैयारी में हैं। पार्टी इनकी हर गतिविधि की निगरानी कर रही है। इनके अलावा दो विधायक भगवती सागर, बिल्हौर व बृजेश प्रजापति, तिंदवारी पहले ही स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ जा चुके हैं। औरैया के विनय शाक्य की स्थिति अभी संशय में है।


भाजपा की राजनीति को लंबे समय से जानने वाले सूत्रों के मुताबिक कानपुर-बुंदेलखंड इलाके के 20 विधायकों के टिकट काटने की बात पूरी तरह सच नहीं है। यह अलग-अलग तरीकों से वायरल की गई सूचनाएं हैं। कुछ लोगों ने तो नाम के साथ सूची भी वायरल कर दी, पर यह गलत है। लेकिन कुछ विधायकों के टिकट कटेंगे, कुछ के क्षेत्र बदले जाएंगे, यह सच है। लिहाजा पहले से पार्टी में कमजोर स्थिति वाले विधायक वेट एंड वाच की स्थिति में है। इनमें 13 सपा के संपर्क में बताए जा रहे हैं। भाजपा के टिकट का ऐलान होने के बाद यह संख्या बढ़ सकती है। ऐसे विधायक उन बड़े चेहरों के संकेत का इंतजार कर रहे हैं, जिनके जरिए वह पिछले चुनाव में भाजपा में शामिल हुए थे। इनमें से कुछ स्वामी प्रसाद मौर्य तो कुछ सीधे सपा प्रमुख अखिलेश यादव के संपर्क में हैं।