ग्रामीण शौचालयों के निर्माण में रखें गुणवत्ता का विशेष ध्यान : जिलाधिकारी

 | 
ग्रामीण शौचालयों के निर्माण में रखें गुणवत्ता का विशेष ध्यान : जिलाधिकारी

अवधनामा संवाददाता

ललितपुर। शासन द्वारा प्राप्त निर्देशों के अनुसार स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अन्तर्गत सामुदायिक शौचालय एवं महिला शौचालय के मानक व निर्माण सम्बन्धी दिशा निर्देश एवं शौचालय की गुणवत्ता एवं देख-रेख प्रणाली स्थापित करने हेतु थर्ड पार्टी वेरिफिकेशन का प्रविधान किया गया है। जिसके अन्तर्गत शासन द्वारा नामित संस्था आर.सी.यू.ई.एस. एवं इण्डियन डेवेलपमेन्ट सेन्टरलखनऊ के प्रशिक्षकों के द्वारा राज्यव्यापी जनपद स्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन विकास भवन के सभागार में किया गया। कार्यशाला का शुभारम्भ जिलाधिकारी अन्नावी दिनेश कुमार एवं मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडेय के करकमलों द्वारा दीप प्रज्जवलन करके किया गया। प्रशिक्षण में स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) फेज -2 के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में निर्मित कराये जा रहे सामुदायिक शौचालयों में गुणवत्ता परक मानकोंएवं ठोस व तरल अपशिष्ट प्रबन्धन के तहत खाद गड्ढों तथा सोख्ता गड्ढों के निर्माण हेतु कार्ययोजना का निर्माण प्रतिभागियों के द्वारा कराया गयाजिसे आगे जाकर समस्त ग्राम पंचायतों की कार्ययोजना के रूप में तैयार किया जायेगा।

जिलाधिकारी अन्नावी दिनेश कुमार ने कहा कि शौचालयों के निर्माण में गुणवत्ता एवं उसके मानकों के अनुरूप निर्माण कराना अत्यंत आवश्यक है। जिला अधिकारी ने कहा कि ग्राम पंचायत के सचिव स्वच्छ भारत मिशन के प्रेरक एवं समस्त संबंधित साथियों की यह जिम्मेदारी होगी कि उनके गांव में निर्मित होने वाले शौचालय को गुणवत्तापूर्ण एवं मानक के अनुरूप तैयार कराया जाए। उन्होंने कहा कि आज का प्रशिक्षण इसीलिए आयोजित किया गया है जिससे आप लोगों को अधिक से अधिक मानकों की जानकारी दी जा सके। जिलाधिकारी ने कहा कि सामुदायिक शौचालय और महिला शौचालय के मानक व निर्माण संबंधी दिशा निर्देश एवं शौचालय स्थापित करने हेतु थर्ड पार्टी वेरिफिकेशन का प्रावधान किया गया है इसलिए हम सब को अपने कार्य एवं गुणवत्ता के प्रति पूर्ण रूप से सतर्क रहते हुए कार्य करना चाहिए। मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार पांडे ने कहा कि कि शौचालय निर्माण की गुणवत्ता एवं मानकों के आधार पर निर्माण ना कराए जाने पर संबंधित के खिलाफ कठोर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि यह प्रशिक्षण इसीलिए आयोजित किया गया है कि आप सब इस बारे में विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त कर ले तथा किसी भी तरह की शंका का समाधान प्रशिक्षण के दौरान कर सकते हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रशिक्षण के बाद कार्य की गुणवत्ता में सुधार होगा तथा कार्य की प्रगति तेज होगी।

कार्यशाला में जिला पंचायत राज अधिकारीसमस्त खण्ड विकास अधिकारीसमस्त सहायक विकास अधिकारी (पं0), समस्त जिला कन्सल्टेन्ट स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण)समस्त खण्ड प्रेरकस्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) एवं विकास खण्डों से नामित सचिव ग्राम पंचायतने प्रतिभाग किया।