आउटसोर्सिंग कर्मियों ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर उन्हें बेरोजगार बनाने का लगाया आरोप

 | 
आउटसोर्सिंग कर्मियों ने विश्वविद्यालय प्रशासन पर उन्हें बेरोजगार बनाने का लगाया आरोप

अवधनामा संवाददाता

गोरखपुर । सरकार रोजगार देने की बात कर रही है लेकिन यहां सीएम योगी के अपने शहर में रोजगार से जुड़े युवाओं को बेरोजगार बनाने की साजिश रची जा रहा है। मामला दीन दयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय का है।जहां आउटसोर्सिंग कर्मियों का पहले वेतन रोका गया और फिर उन्हें आश्वासन देते हुए काम से अलग कर दिया गया। बुधवार को आउटसोर्सिंग कर्मचारियों के प्रतिनिधि मंडल ने गोरखपुर के जिलाधिकारी को सम्बोधित एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट अभिनव रंजन को सौंपा जिसके माध्यम से उन्होंने विश्वविद्यालय प्रशासन से जुड़े कुछ लोगों पर मनमाने तरीके से नए आउटसोर्सिंग कर्मचारियों को रखने और बिना कारण बताए पुराने आउटसोर्सिंग कर्मियों को काम से अलग कर देने और उनका कई महीनों का बकाया वेतन न दे दिए जाने का आरोप लगाया है।बहरहाल रोज़गार छीनने की इस साजिश से ज़िम्मेदार कब बाख़बर होते हैं और युवाओं को इंसाफ कब तक मिलता है यह तो आने वाला समय ही बताएगा।