नवरात्र के पहले दिन देवी मंदिर में उमड़ा आस्था का सैलाब

जयकारा शेरावाली के जयघोष से भक्तिमय रहा जनपद 
 | 
नवरात्र के पहले दिन देवी मंदिर में उमड़ा आस्था का सैलाब
माँ के दरबार मे श्रद्धालुओं ने टेका मत्था, व्रत रखकर माँ भगवती से की सुख समृद्धि की कामना
अवधनामा संवाददाता
कुशीनगर। शरदीय नवरात्र के पहले दिन गुरुवार को जिले के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के मंदिरों में माँ जगत जननी के दर्शन के लिए भोर से ही माँ के भक्तो की लंबी कतारें लगी रहीं। श्रद्धालुओं ने विधि-विधान से माँ दुर्गा का पथम स्वरूप माँ शैलपुत्री की पूजा-अर्चना किया। घर मे सुख, शांति और उन्नति के लिए  लोगों ने घरों और मंदिरों में कलश स्थापना कर शक्ति स्वरूपा माँ दुर्गा का आह्वान किया। श्रद्धालुओं ने व्रत रखकर भगवती से सुख समृद्धि की कामना भी की। इस दौरान चहुओर जयकारा शेरावाली के जयघोष से पुरा वातावरण भक्तिमय रहा। 
शारदीय नवरात्र के पहले दिन से ही श्रद्धालु शक्ति स्वरूपा की पूजा-अर्चना में डूब गए। शारदीय नवरात्र के लिए तैयारियां एक दिन पूर्व ही पूरी कर ली गई थी। मां के मंदिरों और शक्तिपीठों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। नगर के बुढ़िया माई मंदिर, खिरिकिया दुर्गा मंदिर में सुबह चार बजे से ही भक्तों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया। मंदिर का पट खुलने से पहले ही श्रद्धालुओं की लंबी कतार लग गई थी। मंदिरों के पुजारी और पुरोहितों ने सभी की मंगल कामना की और अखंड मनोकामना ज्योति कलश प्रज्ज्वलित कराया। सभी देवी मंदिरों में शाम को महाआरती हुई, जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। नगर के साहबगंज स्थित दुर्गा मंदिर, अंबे चौक स्थित दुर्गा मंदिर, लखरावा देवी मंदिर, छावनी स्थित हठी माई मंदिर समेत सभी देवी मंदिरों में देर शाम तक श्रद्धालुओं ने पूजन किया। इस दौरान मंदिरों परिसरों में मेला जैसा माहौल था। धूप, अगरबत्ती, कपूर आदि की दुकानें आकर्षक ढंग से सजाई गई थी। पडरौना नगर के बुढ़िया मंदिर, लखरांव मंदिर और खिरकिया दुर्गा मंदिर में हमेशा श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहती है लेकिन नवरात्र के समय यहा भक्तो का सैलाब उमड़ जाती है। इसको ध्यान मे रखते हुए मंदिर समिति की तरफ से महिला और पुरुष अलग-अलग कतार लगाई गई। इसके अलावा श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए महिला और पुरुष पुलिस के जवान तैनात थे।