विकास कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक में दर्जन भर अधिकारियों पर गिरी गाज, कइयों का रोका वेतन

लाभार्थियों के खाते में आवास का पैसा भेजने में देरी पर समस्त बीडीओ को नोटिस

 | 
विकास कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक में दर्जन भर अधिकारियों पर गिरी गाज, कइयों का रोका वेतन

अवधनामा संवाददाता


कुशीनगर। जिलाधिकारी एस राज लिंगम ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में मुख्यमंत्री के 37 बिंदुओं वाली विकास कार्यक्रमों की समीक्षा बैठक किया। समीक्षा के दौरान सटीक जवाब न मिलने व विकास कार्यों में धीमी प्रगति पर दर्जन भर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई का निर्देश दिया है। उसके साथ ही अधीक्षण अभियंता जल निगम के खिलाफ कार्रवाई हेतू प्रमुख सचिव को पत्र लिखा। इस दौरान उन्होंने सख्त लहजे में कहा कि विकास कार्यों की लापरवाही कत्तई बर्दाश्त नही की जायेगी।

 जिलाधिकारी ने समीक्षा बैठक दौरान मुख्यमंत्री/प्रधानमंत्री आवास के लाभार्थियों के खाते में प्रथम क़िस्त व द्वितीय क़िस्त की रकम भेजने में देरी होने पर जिलाधिकारी द्वारा कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों को नोटिस /शो काल जारी किये जाने का निर्देश परियोजना निदेशक को दिए। पेय जल मिशन की समीक्षा दौरान एक्सियन जल निगम द्वारा बताया गया कि कार्य धीमी गति से हो रहा है, तथा टेक्निकल हैंड ना होने के कारण कार्य मे प्रगति नही हुई जिसे संज्ञान लेते हुए एवं विगत माह से रिपोर्ट में शून्य प्रगति होने के कारण जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल निगम के खिलाफ प्रमुख सचिव को पत्र लिखने का निर्देश सम्बन्धित को दिए। इसी प्रकार खाद्य एवं रसद विभाग की समीक्षा में अभी तक कुल 12 दुकानों का आवंटन न होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त की गई, तथा सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों के विरुद्ध स्पष्टीकरण जारी किए जाने का निर्देश जिला पूर्ति अधिकारी को दिए। इसी प्रकार कन्या सुमंगला योजना के तहत विकास खण्ड स्तर सत्यापन हेतु लम्बित आवेदन पत्रों के संदर्भ में विकास खण्डवार समीक्षा की गई, तथा सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारियों से स्पष्टीकरण लिए जाने का निर्देश दिया गया। वन विभाग की समीक्षा दौरान किये गए वृक्षारोपण पश्चात पौधे को सुख जाने के संदर्भ में विगत माह की प्रगति रिपोर्ट 98 प्रतिशत थी जो वर्तमान में 32 प्रतिशत होने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए फर्जी रिपोर्टिंग करने, पर अपर मुख्य सचिव पर्यावरण विभाग को जांच करने सम्बन्धी पत्र प्रेषित किये जाने का निर्देश सम्बन्धित को दिए। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत बताया गया कि लक्ष्य 45 के सापेक्ष 58 इकाइयों का सेन्सन करा दिया गया है जो इस माह में पूर्ण कर लिया जाएगा। सहभागिता योजना की समीक्षा में अगस्त माह तक का ही भुगतान होने पर सभी खण्ड विकास अधिकारियों को शीघ्र सत्यापन कर रिपोर्ट प्रस्तुत किये जाने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिए।

 श्री लिंगम ने अधि0 अभि0 पीडब्ल्यू डी को बैठक में अनुपस्थित रहने व नई सड़कों के निर्माण कार्यों में संतोषजनक प्रगति न होने पर नोटिस दिए जाने का निर्देश दिए। नहरों में टेल तक पानी की समीक्षा दौरान सम्बन्धित द्वारा बताया गया कि शिल्ट सफाई का कार्य चल रहा है तथा रोस्टर अनुसार 24 दिसम्बर से नहरों में पानी छोड़ा जाएगा। किसान सम्मान निधि योजना अन्तर्गत लाभार्थियों के न मिलने/ आधार न0 गलत होने व डाटा डिलीट करने में धीमी प्रगति संज्ञान में आने पर उप निदेशक कृषि को चेतावनी देते हुए कार्य मे प्रगति लाने का निर्देश दिया गया। 

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा दौरान जनपद में मात्र 26 प्रतिशत गोल्डन कार्ड बनने व परिवार नियोजन में 11 प्रतिशत की उपलब्धि पर जिलाधिकारी द्बारा नाराजगी व्यक्त की गई । इसके अलावे क्रियाशील हेल्थ सेंटरों, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य योजना, संस्थागत प्रसव,दवाओं की उपलब्धता, आदि की समीक्षा करते हुए आवश्यक निर्देश दिए गए। समीक्षा दौरान छात्रवृत्ति योजना, सामूहिक विवाह, पेंशन, आईसीडीएस विभाग के भवन निर्माण, कायाकल्प योजना, सहित सामूहिक शौचालयों की स्थिति सहित सभी विन्दुओं पर समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए गए।

 बैठक के अंत मे जिलाधिकारी ने जिला विकास अधिकारी को निर्देशित किया कि सभी विकास खण्डों के लैंड लाइन न0 सक्रिय कराएं ताकि प्रातः 10 बजे व अपरान्ह 4 बजे काल कर जानकारी ली जा सके। उन्होंने जनपद में हो रहे वेक्सिनेशन के सम्बंध में भी सभी ग्राम प्रधान गणों  से वार्ता कर एक-एक ग्राम सभा की शत प्रतिशत वेक्सिनेशन कराने के सम्बंध में सभी सम्बन्धित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी राम सुमेर गौतम, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 सुरेश पटारिया, परियोजना निदेशक राजनाथ प्रसाद भगत, डीएसटीओ मु0 नासेह, उप निदेशक कृषि बाबूराम मौर्य, डीपीआरओ अभय कुमार यादव, जिला खादी ग्रामोद्योग अधिकारी ए0के0 पाल,सहित अधि0 अभि0 विद्दुत, जलनिगम, सिंचाई,के साथ समस्त जनपद स्तरीय अधिकारी गण उपस्थित रहे।