पूर्वांचल में ऐतिहासिक होगी अखिलेश की सभा - नन्दकिशोर

 भाजपा के जनविरोधी नीतियों, भ्राष्टाचार और प्रशासनिक अत्याचार से पीड़ित खोल चुके है मोर्चा

 | 
 भाजपा के जनविरोधी नीतियों, भ्राष्टाचार और प्रशासनिक अत्याचार से पीड़ित खोल चुके है मोर्चा

अवधनामा संवाददाता 
 

कुशीनगर। विजय यात्रा पर निकले सपा प्रमुख अखिलेश यादव के तमकुहीराज में ऐतिहासिक स्वागत एवं सभा के लिए सपा नेताओं ने जनसम्पर्क कर कार्यक्रम को सफल बनाने की रणनीति को गति देना शुरू कर दिया है।

भाजपा छोड़ सपा में आये पूर्वांचल में संगठन खड़ा करने और जमीनी कार्यकर्ताओं को समझने के माहिर बताये जाने वाले पूर्व विधायक पंडित नन्दकिशोर मिश्र वैसे तो काफी दिनों से सपा को मजबूती दिलाने को गांव गांव में जनसंवाद एवं जनसम्पर्क कर हर जगह मजबूत टीम खड़ा करने के काम में लगे है, लेकिन इधर पार्टी के निर्देश और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के विजय यात्रा को ऐतिहासिक बनाने के लिए पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर रणनीति बनाने के साथ जमीनी स्तर पर काम करना शुरू कर दिया है। जिससे कार्यकर्ताओं में नई ऊर्जा का संचार दिख रहा है।

सपा से जुड़े लोगों की माने तो पंडित नन्दकिशोर मिश्र प्रातः पांच बजे अपने आवास से निकल क्षेत्र में पहुँच दस बजे तक जन सम्पर्क उसके बाद विभिन्न गांवों में जनसंवाद के जरिये सपा प्रमुख के जनहित के प्राथमिकताओं के साथ भाजपा शासन के जनविरोधी नीतियों एवं भ्राष्टाचार से लोगों को अवगत कराते हुए सभी को एक साथ एक मंच पर लाने के काम में लगे हुए है। पंडित नन्दकिशोर मिश्र ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जनता जनसंवाद कार्यक्रम में भाजपा के नीतियों एवं भ्राष्टाचार की पोल खोल रही है। छात्र, नौजवान, व्यपारी, वेरोजगार, किसान सभी पीड़ित है। हर ओर से भ्राष्टाचार की आवाज निकल रही। हम तो सिर्फ उनके दर्द को महसूस कर रहें। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के इस पिछड़े क्षेत्र में सपा प्रमुख अखिलेश यादव का तमकुहीराज के धरती पर अभूतपूर्व स्वागत एवं किसान पीजी कालेज बनरहा, तमकुहीरोड में ऐतिहासिक सभा होगी। इसके लिए पार्टी के सभी नेता, कार्यकर्ता एवं पार्टी से जुड़े सभी लोग अपनी पूरी ऊर्जा के साथ खड़े दिख रहे है। इस दौरान महेश सिंह कुशवाहा, संजय लाल श्रीवास्तव, रणविजय द्विवेदी, आयुष तिवारी, विवेक मिश्र, देवीलाल यादव, शाहिद शेख आदि सहित सौकड़ो कई संख्या में सपा नेता व कार्यकर्ता उपस्थित रहें।