कोरोना प्रतिबंधों में नीदरलैंड, बेल्जियम और फ्रांस में विरोध-प्रदर्शन

 | 
कोरोना प्रतिबंधों में नीदरलैंड, बेल्जियम और फ्रांस में  विरोध-प्रदर्शन 

नीदरलैंड । कोरोना वायरस की वापसी के चलते विदेशों में भी कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं। कोरोना प्रतिबंधों के विरोध में नीदरलैंड, बेल्जियम और फ्रांस में विरोध तेज हो गया है। यहां पर काफी संख्या में प्रदर्शनकारियों ने इन तीनों जगह लगाए गए कोरोना प्रतिबंधों के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया है।

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए छोड़ी गई पानी की बौछारें

भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने पानी की बौछारें और आंसू गैस के गोले छोड़े। रविवार को पूरे यूरोपीय शहरों में लोगों का आना जारी रहा। डीडब्ल्यू न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार काफी संख्या में लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। इस दौरान नीदरलैंड में के कई शहरों में दंगे भड़क उठे। लगातार तीसरी पुलिस गुस्साए युवकों की भीड़ से भिड़ गई। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने आग लगा दी और पत्थर फेंके।

डीडब्ल्यू न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, नीदरलैंड में लगातार तीसरे दिन भी विरोध प्रदर्शन जारी रहा और पुलिस ने जर्मन सीमा के पास पूर्वी शहर एन्शेडे में आपातकालीन आदेश जारी किया है। पुलिस ने बताया कि विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद से 130 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बता दें कि नीदरलैंड 13 नवंबर को आंशिक रूप से लाकडाउन की और सार्वजनिक क्षेत्रों में बिना टीकाकरण के सख्त नियमों पर विचार कर रहा है। इस बीच, हजारों लोगों ने ब्रसेल्स शहर में कोरोना प्रतिबंधों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। डीडब्ल्यू न्यूज ने इसकी जानकारी दी। उधर, बेल्जियम में हाल के हफ्तों में कोरोना संक्रमण बढ़ा है, देश में प्रतिदिन औसतन 12,000 से अधिक नए मामले दर्ज हो रहे हैं।