अमेरिका के बाद UAE में 5 से 11 साल के बच्चों के लिए फाइजर वैक्सीन को मिली मंजूरी

 | 
अमेरिका के बाद UAE में 5 से 11 साल के बच्चों के लिए फाइजर वैक्सीन को मिली मंजूरी

दुबई। संयुक्त अरब अमीरात(यूएई) ने अपने यहां 5 से 11 साल के बच्चों के लिए फाइजर की कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। संयुक्त अरब अमीरात(यूएई) के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी है। इससे पहले संयुक्त अरब अमीरात(यूएई) में 3 से 17 साल के बच्चों के लिए सिनोफार्म वैक्सीन को मंजूरी दी गई थी। यूएई में 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों के लिए फाइजर की वैक्सान को पहले ही मंजूरी मिल चुकी है। यूएई के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि फाइजर की वैक्सीन सुरक्षित है औऱ इससे इम्युनिटी में मदद मिल रही है।


अमेरिका में भी मिली थी मंजूरी

अमेरिका ने 30 अक्टूबर को लाखों बच्चों के वैक्सीनेशन में एक अहम फैसला लेते हुए 5 से 11 साल के बच्चों को कोरोना वैक्सीन फाइजर की डोज को मंजूरी दे दी । खाद्य और औषधि प्रशासन (Food and Drug Administration, FDA)के मुताबिक, फाइजर इंक और बायोएनटेक SE कोरोना वैक्सीन को पांच साल से अधिक उम्र वाले बच्चों के लिए मंजूरी दे दी है। इसके साथ ही अमेरिका में बच्चों को लगने वाली पहली वैक्सीन फाइजर ही बन गई है। हालांकि इस आयुवर्ग को लगने वाली इस वैक्सीन की खुराक का स्टाक फिलहाल उपलब्ध नहीं है। वहीं अमेरिका के सेंटर्स फार डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन को अभी भी इस बारे में निर्देश की जरूरत है कि किस तरह से वैक्सीन की खुराक लगाई जानी चाहिए।

लैंसेट के अध्ययन में खुलासा हुआ है कि फाइजर कोरोना वैक्सीन की तीसरी या बूस्टर डोज गंभीर कोविड को कम करने में ज्यादा प्रभावी है। एक नए अध्ययन में पाया गया है कि फाइजर-बायोएनटेक की तीसरी वैक्सीन खुराक कोविड-19 से संबंधित गंभीर परिणामों को कम करने में कम से कम पांच महीने पहले वैक्सीन की दो खुराक लेने वाले व्यक्तियों की तुलना में ज्यादा असरदार साबित हुई।