प्रदर्शनकारी सरकार द्वारा लगाई गईं पाबंदियों खासकर सिनेमा हॉल बंद करने का किया विरोध

 | 
प्रदर्शनकारी सरकार द्वारा लगाई गईं पाबंदियों खासकर सिनेमा हॉल बंद करने का किया विरोध

ब्रसेल्स: ओमिक्रॉन (Omicron) के बढ़ते खतरे से निपटने के लिए पाबंदियों का दौर शुरू हो गया है. कुछ देशों ने सख्त कदम उठा लिए हैं और कुछ जल्द ही इनकी घोषणा कर सकते हैं. इस बीच, बेल्जियम की राजधानी ब्रसेल्स (Brussels) में रविवार को बड़े पैमाने पर विरोध-प्रदर्शन हुआ. प्रदर्शनकारी सरकार द्वारा लगाई गईं पाबंदियों, खासकर सिनेमा हॉल बंद करने से नाराज हैं. अपनी इसी नाराजगी को व्यक्त करने के लिए उन्होंने रविवार को बड़ी संख्या में सड़कों पर उतरकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की.

इन पर लगाई गई है पाबंदी
बेल्जियम में कोरोना ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है. इसी के मद्देनजर सरकार ने कड़े कदम उठाए हैं. इसके तहत सिनेमाघरों, थिएटर, कॉन्सर्ट हॉल और कांफ्रेंस हॉल जैसे इनडोर स्थान बंद रहेंगे. इसके अलावा, स्टेडियम, स्पोर्ट्स इवेंट्स और टेंट आदि में होने वाले आउटडोर कार्यक्रमों को भी प्रतिबंधित किया गया है. क्रिसमस के आउटडोर मार्केट्स पर भी प्रतिबंध लगाए गए थे, लेकिन बाद में उन्हें खुले रहने की अनुमति दी गई. साथ ही कोविड प्रतिबंधों के तहत मनोरंजन पार्कों को बंद किया गया है.

लगातार बढ़ रहा है खतरा
देश में अब तक कोरोना के 2 मिलियन से अधिक मामले सामने आए हैं और कम से कम 28,149 लोगों की मौत हुई है. बेल्जियम अभी भी कोरोना की चौथी लहर से उबर रहा है और ओमिक्रॉन के रूप में नए खतरे ने उसे घेर लिया है. न्यूज एजेंसी AFP की रिपोर्ट के अनुसार, हॉस्पिटल स्टाफ का कहना है कि वे पहले से ही ब्रेकिंग पॉइंट पर हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार कड़े फैसले ले रही है, लेकिन लोग इसके लिए तैयार नहीं. बता दें कि कुछ वक्त पहले भी ब्रसेल्स में हजारों लोगों ने सरकार द्वारा कोविड -19 को लेकर लगाई गई पाबंदियों के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया था.