इस बार धनतेरस पर बरसेगा धन

 | 
इस बार धनतेरस पर बरसेगा धन

नई दिल्ली। धनतेरस पर आभूषणों की बिक्री अच्छी रहने की उम्मीद, छोटे शहरों में सोने के अधिक खरीदार
त्योहारी सीजन में कीमती धातुओं की मांग में तिमाही आधार पर 20 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। वहीं, बड़े शहरों की तुलना में छोटे शहरों में सोने की मांग अधिक देखने को मिली है। जस्ट डायल की कन्ज्यूमर इनसाइट रिपोर्ट से यह जानकारी मिली है।

रिपोर्ट के अनुसार, इस दौरान सोने की मांग चांदी की तुलना में तीन गुना अधिक रही है। वहीं, चांदी की मांग में तिमाही आधार पर 30 फीसदी की वृद्धि हुयी है। इस दौरान सोने और हीरे की मांग में 18 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। रिपोर्ट के अनुसार टियर-2 शहरों में सोने, चांदी और हीरे की मांग बड़े शहरों की तुलना में अधिक है। सोने की बात करें तो टियर-2 शहरों में मांग में 24 फीसदी बढ़ोतरी हुई है, जबकि बड़े शहरों में 22 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की गई है। चांदी के मामलों में टियर-2 शहरों में 40 फीसदी बढ़ोतरी हुई है जबकि बड़े शहरों में यह 20 फीसदी ही बढ़ी है। वहीं, हीरे की मांग बड़े शहरों में 14 फीसदी बढ़ी जबकि टियर-2 शहरों में इसकी मांग 38 फीसदी से अधिक बढ़ी है।


सोने की बात करें तो बड़े शहरों में मुंबई, दिल्ली और हैदराबाद टॉप 3 शहर रहें जहां इस धातु के बारे में सबसे अधिक सर्च किया गया है। इसके बाद बेंगलुरु, चेन्नई, कोलकाता, पुणे और अहमदाबाद में सबसे ज्यादा है। चांदी की बात करें तो दिल्ली हैदराबाद और बेंगलुरु शीर्ष तीन शहर हैं, जहां सबसे अधिक मांग रही। इसके बाद मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, अहमदाबाद और पुणे में इसकी मांग सबसे ज्यादा रही।

इन शहरों में हीरे की मांग अधिक

हीरे की बात करें तो पहले स्तर के शहरों में मुंबई, दिल्ली और चेन्नई में सबसे ज्यादा मांग रही। इसके बाद हैदराबाद, अहमदाबाद, कोलकाता, बेंगलुरु और पुणे में भी अधिक मांग दर्ज की गई। छोटे शहरों में हीरों के पारम्परिक हब सूरत में सबसे अधिक मांग दर्ज की गई। इसके बाद लखनऊ और भोपाल में मांग अधिक रही। जयपुर, कोयम्बटूर, चंडीगढ़, वाराणसी, वड़ोदरा, इंदौर और कानपुर शीर्ष दस शहर रहे, जहां सबसे ज्यादा मांग दर्ज की गई।

धनतेरस पर आभूषणों की बिक्री अच्छी रहने की उम्मीद

भारतीय आभूषण बाजार में पुनरुद्धार के बीच सर्राफा कारोबारी इस साल धनतेरस पर जोरदार बिक्री की उम्मीद कर रहे हैं। कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका के कम होने के साथ त्योहारी सीजन को लेकर लोगों में जोश है और साथ ही इस समय में सोने की कीमतों में नरमी है। ऐसे में आभूषण बाजार में रौनक रहने की उम्मीद है। आभूषण उद्योग के एक निकाय ने कहा कि उम्मीद है कि इस साल त्योहारों पर आभूषणों की बिक्री 2019 के कोविड-पूर्व के स्तर पर पहुंच सकेगी। इसकी वजह इस समय 10 ग्राम सोने की कीमत 46,000-47,000 रुपये प्रति 22 कैरेट का होना है जो 2020 की तुलना में करीब पांच प्रतिशत कम है।

साथ ही अब शादी-ब्याह आयोजनों में भी बढ़ोतरी हो रही है। ऑल इंडिया जेम्स एंड ज्वेलरी डोमेस्टिक काउंसिल के अध्यक्ष आशीष पेठे ने कहा, चूंकि नवरात्रि के बाद से बाजार में मांग दिख रही है। यह धनतेरस पर भी जारी रहेगी। इस साल महामारी के नियंत्रण में होने, सोने की कीमतें कम होने और शादी का सीजन तेज होने के साथ त्योहार को लेकर जोश बना हुआ है। इस साल अक्टूबर-नवंबर के महीनों की बिक्री पूरे साल की बिक्री में 40 प्रतिशत का योगदान देगी। रत्न और आभूषण उद्योग के शीर्ष घरेलू निकाय को उम्मीद है कि 2021 में उद्योग-2019 के महामारी पूर्व के स्तर पर लौट आएगा। हालांकि, सोने की कीमत 2019 के स्तर से लगभग 20 प्रतिशत अधिक है।