रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयरों में 4 फीसदी से अधिक गिरावट

 | 
रिलायंस इंडस्ट्रीज  के शेयरों में 4 फीसदी से अधिक गिरावट 

नई दिल्ली मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की अगुवाई वाली देश की सबसे मूल्यवान कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) के शेयरों में सोमवार को 4 फीसदी से अधिक गिरावट आई। इससे कंपनी का मार्केट कैप करीब 9 अरब डॉलर यानी 66,000 करोड़ रुपये घट गया। कंपनी ने सऊदी अरामको के साथ 15 अरब डॉलर की प्रस्तावित डील रद्द कर दी है। इससे निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई और रिलायंस के शेयरों में गिरावट आई।
बीएसई पर कंपनी का शेयर 4.22 फीसदी की गिरावट के साथ 2,368.20 रुपये पर पहुंच गया था। इस कीमत पर कंपनी का मार्केट कैप 66,000 करोड़ रुपये घट गया। हालांकि एनालिस्ट्स ने कंपनी के प्राइस टारगेट में कोई बदलाव नहीं किया है। कंपनी एनर्जी और नए कॉमर्स बिजनस में उतरना चाहती है। जानकारों का कहना है कि दुरुस्त बैलेंस शीट और अगले कुछ वर्षों के दौरान मिलने वाले कैश से कंपनी को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।

दो दिन में 40% गिरा पेटीएम का शेयर, निवेशकों को अब क्या करना चाहिए

Credit Suisse ने रिलायंस के शेयर को न्यूट्रल रेटिंग दे रखी है। उसका कहना है कि सऊदी अरामको के साथ डील रिलायंस के लिए कैटालिस्ट का काम कर रही थी। अरामको के चेयरमैन को रिलायंस के बोर्ड में शामिल किया गया था और माना जा रहा थी यह सौदा अपने मुकाम पर पहुंचेगा। निवेशकों के मन में केवल यह सवाल था कि यह डील पूरी तरह कैश में होगी या कैश और स्टॉक डील होगी। यह वजह है कि कंपनी के खुलासे ने निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई।

मोबाइल रिचार्ज करना हुए मंहगा, एयरटेल ने 25 फीसदी तक बढ़ाया टैरिफ

रिलायंस के O2C बिजनस का वैल्यूएशन 75 अरब डॉलर माना जा रहा था लेकिन अब इसमें बदलाव आ सकता है। Jefferies ने इसका वैल्यूएशन 70 अरब डॉलर कर दिया है और साथ ही स्टॉक के टारगेट प्राइस में 4 फीसदी कटौती कर दी है। हालांकि ब्रोकरेज ने साफ किया है कि अरामको-रिलायंस डील रद्द होने से कंपनी की बैलेंस शीट पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। कंपनी के पास नए बिजनस शुरू करने के लिए पर्याप्त फंड है।