यात्रियों की भीड़ और मौसम को देखकर रेलवे चलाएगा स्‍पेशल ट्रेनें

 | 
यात्रियों की भीड़ और मौसम को देखकर रेलवे चलाएगा स्‍पेशल ट्रेनें 

नई दिल्‍ली (New Delhi)। रेलवे कोहरे के कारण ट्रेनों की लेटलतीफी और कोरोना महामारी को देखते हुए स्पेशल ट्रेनों का संचालन करेगा। ये ट्रेनें अलग-अलग रूटों पर दौड़ेंगी। ट्रेनों की शुरुआत यात्रियों की भीड़ और मौसम को देखकर की जाएगी। भारतीय रेलवे ने इसके लिए बाकायदा इन स्‍पेशल ट्रेनों का टाइमटेबल भी जारी किया है।

टाइमटेबल के मुताबिक रेलगाड़ी संख्या 09524, दिल्ली सराय रोहिल्ला-ओखा साप्ताहिक स्पेशल ट्रेन जो 12 फरवरी से शुरू की जायेगी और 23 फरवरी तक 7 ट्रिप करेगी। प्रत्येक बुधवार को दिल्ली सराय रोहिल्ला से दोपहर 13.20 पर रवाना होकर गुरूवार को 13.50 पर गन्तव्य तक पहुंचेगी। मार्ग में यह ट्रेन द्वारका, खंभालिया, जामनगर, हापा, राजकोट, सुरेंद्रनगर, वीरमगाम, मेहसाणा, उंझा, सिद्धपुर, पालनपुर, आबूरोड, फालना, मारवाड़, ब्यावर, अजमेर, जयपुर, गांधीनगर जयपुर, बांदीकुई, अलवर एवं रेवाड़ी स्टेशनों पर ठहराव करेगी।

नागपुर रेल मंडल के राजनांदगांव और कलमना के बीच तीसरी लाइन का काम चल रहा है। जिस कारण रायपुर, बिलासपुर के साथ कुल 8 ट्रेनें रद्द रहेंगी। ये ट्रेनें 11 जनवरी तक रद्द रहेंगी। जानकारी के अनुसार बिलासपुर रेल मंडल में रेलवे ट्रैक पर लाइन जोड़ने का काम चल रहा है जिसके चलते कई ट्रेनें रद्द कर दी गई है। जिसका असर कई राज्यों के यात्रियों पर पड़ने वाला है।

1.77 लाख टन कृषि उत्पादों की ढुलाई

अच्‍छी खबर यह भी है कि महामारी के दौरान दक्षिण मध्य रेलवे से 546 किसान रेलों ने 1.77 लाख टन कृषि उत्पादों की ढुलाई की। साथ ही दूध दुरंतो ने रेनीगुंटा से हजरत निजामुद्दीन तक साल 20121 में लगभग 7.77 करोड़ लीटर दूध की ढुलाई की। साल 2021 के दौरान दक्षिण मध्य रेलवे के रेल नेटवर्क को मजबूत बनाने के लिए कुल 227.5 किलोमीटर ट्रैक का निर्माण किया गया है। इसके अलावा, निर्बाध ट्रेन आवाजाही सुविधा प्रदान करने के लिए, 657 किलोमीटर रेलवे लाइनों का विद्युतीकरण किया गया है। रेलवे के अनुसार दक्षिण मध्य रेलवे के रेल नेटवर्क 25 किलोमीटर का नई लाइनों का निर्माण किया गया है। इसके साथ ही 120.5 किलोमीटर डबल लाइन का कार्य पूरा किया गया। वहीं तीसरी लाइन को लेकर 82 किलोमीटर का काम पूरा किया गया।